Home » बिज़नेस » Vodafone-Idea biggest loss of 50,921 crore in corporate history
 

बर्बादी की कगार पर Vodafone Idea, कॉर्पोरेट इतिहास का सबसे बड़ा 50,921 करोड़ का घाटा

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 November 2019, 9:24 IST

Vodafone Idea बर्बाद होने की कगार पर आ खड़ी है. कंपनी को कॉरपोरेट इतिहास का सबसे बड़ा घाटा हुआ है. Vodafone Idea को यह घाटा समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) की वजह से हुआ है. वोडाफोन आइडिया को दूसरी तिमाही में 50, 921 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. पिछले साल की दूसरी तिमाही में कंपनी को 4,947 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

भारत के कॉर्पोरेट इतिहास में यह अभी तक का सबसे बड़ा तिमाही घाटा है. टाटा मोटर्स को पिछले साल की आखिरी तिमाही में 26,961 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. इतने बड़े घाटे को लेकर वोडाफोन की तरफ से बयान आया है कि कारोबार को जारी रखने के लिए अब वह सरकारी राहत पर निर्भर है.

वोडाफोन ने कहा, ‘एजीआर के मसले पर कोर्ट के आदेश से उद्योग पर खासा असर पड़ा है.’ आदित्य बिड़ला समूह ने कहा था कि सरकार अगर एजीआर को लेकर 39,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की देनदारी पर बड़ी राहत नहीं देती, तो कंपनी में वह और निवेश नहीं करेगी. ऐसे में वोडाफोन-आइडिया कंपनी दिवालिया हो जाएगी.

 

दरअसल, पिछले माह एजीआर पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया था. वोडाफोन आइडिया का शेयर गुरुवार को 22 फीसदी तक गिर गया था. यह 18.92 फीसदी यानी 0.30 अंक की गिरावट के बाद तीन रुपये के स्तर पर बंद हुआ. 

सिर्फ वोडाफोन आइडिया ही नहीं सुप्रीम कोर्ट के बकाया चुकाने के आदेश से भारती एयरटेल को भी तगड़ा झटका लगा है. गुरुवार को जारी नतीजों के अनुसार, भारती एयरटेल को जुलाई-सितंबर, 2019 तिमाही में 23,045 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. जबकि पिछले साल इस तिमाही में एयरटेल को 119 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था.

मंदी के बीच Honda ने पेश की नई 125 सीसी बीएस VI-बाइक, कीमत दमदार

मूडीज ने 2019-20 के लिए भारत की जीडीपी दर को घटाकर 5.6 प्रतिशत किया

First published: 15 November 2019, 9:10 IST
 
अगली कहानी