Home » बिज़नेस » What are the preparations for Maruti Suzuki for electric cars in India?, auto expo
 

भारत में इलेक्ट्रिक कारों के लिए क्या है मारुति सुजुकी की तैयारी ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 January 2018, 18:13 IST

मारुति सुजूकी भारत में अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार लांच करने वाली है. एक रिपोर्ट के मुताबिक मारुति सुजुकी के प्रबंध निदेशक केनीकी अयाकावा ने कहा कि जापानी कार निर्माता पूरी तरह से इसके लिए टोयोटो पर नहीं रहेगी. अयाकावा ने कहा "हालांकि सुजुकी मोटर का इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के लिए टोयोटा से तकनीकी समझौता (एमओयू) है. इसके अलावा सुजुकी अपने इलेक्ट्रिक वाहनों की प्रौद्योगिकी विकास पर भी काम कर रही है. उन्होंने कहा इन संयुक्त प्रयासों से हम 2020 और उससे आगे भारत में इलेक्ट्रिक वाहन बनाने शुरू कर देंगे.

मारुति सुजूकी आगामी ऑटो एक्सपो में अपने इटैलेक्ट्रिक और हाइब्रिड तकनीक की कारों का प्रदर्शन करेगी. एक्सपो 2018 अगले महीने शुरू हो रहा है. भारत सरकार भी इलेक्ट्रिक वाहनों को 2030 तक भारत में अधिक संख्या में लाना चाहती है. सुज़ुकी जापान में पहले ही स्विफ्ट हाइब्रिड और सोलो हाइब्रिड जैसी कारें भी बेचती हैं.

मारुति सुजुकी अगले सप्ताह के एक्सपो में अपनी इलेक्ट्रिक एसयूवी का प्रदर्शन करेगी. सुजुकी ने हाल ही में गुजरात में एक बैटरी संयंत्र स्थापित करने पर काम भी शुरू कर दिया है और 2020 तक भारत के लिए एक इलेक्ट्रिक वाहन योजना बनाने के लिए टोयोटा के साथ करार किया है.

पिछले साल सितंबर में सुजुकी ने घोषणा की थी कि इसके वह लिथियम आयन बैटरी जेवी टूटीबा और टोसो अपनी उत्पादन सुविधाओं को स्थापित करने के लिए 11.51 अरब (1,151 करोड़ रुपये) का निवेश करेगा.

हालांकि इलेक्ट्रोनिक टेक्नोलॉजी में लगातार होता बदलाव निर्माताओं के लिए एक चुनौती भी है. सुज़ुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव ने कहा कि स्थानीय रूप से बेचे जाने वाले नए वाहनों का लगभग 40% उत्पादन  2030 तक हो सकता है. हर साल यात्री वाहन खंड में आठ प्रतिशत की वृद्धि से 2030 तक  लगभग 71 मिलियन नए वाहनों को जोड़ा जा सकता है.

First published: 30 January 2018, 18:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी