Home » बिज़नेस » What options do India have to stop importing oil from Iran?
 

ईरान से तेल आयात बंद करने पर भारत के पास क्या विकल्प मौजूद हैं ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2018, 17:32 IST

अमेरिका ने भारत समेत अन्य देशों को साफ कह दिया वह नवम्बर से ईरान के तेल का इम्पोर्ट बंद कर दें. ऐसे में सबसे बड़ी समस्या भारत जैसे देश के सामने आ खडी हुई है, जो अपना 80 प्रतिशत तेल इम्पोर्ट करता है. इंडियन ऑयल कार्पोरेशन के चेयरमैन संजीव सिंह का कहना है कि ईरान के तेल निर्यात बंद होने के मामले में सऊदी अरब अकेले दुनिया की आपूर्ति की कमी को कवर कर सकता है.

एशिया में कुछ ग्राहक पहले ही नवंबर के शुरू में ईरान के साथ व्यापार समाप्त करने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की मांग को स्वीकार करने पर विचार कर रहे हैं. आईओसी ने 31 मार्च को समाप्त होने वाले वित्त वर्ष में ईरान से 7 मिलियन टन कच्चे तेल की खरीद की योजना बनाई है, जो पिछले वित्त वर्ष में 4 मिलियन टन थी.

भारत ने मई में ईरान से 771,000 बैरल कच्चे तेल का आयात किया था , जो पिछले महीने की तुलना में 35 प्रतिशत अधिक है.

आईओसी ने 2017-18 के दौरान कच्चे तेल के 16 नए ग्रेड जोड़े और इसमें 175 विभिन्न किस्मों को संसाधित करने की क्षमता है. जानकारों का मानना है कि ईरान से तेल आयात प्लान बंद होने के बाद भी भारत के पास ए, बी, सी, और डी प्लान मौजूद है. हम पूरी तरह से तैयार हैं.

भारत सरकार अब तक ईरानी आयात पर अपने रुख के बारे में मिश्रित सिग्नल भेज रही है. यह भी खबरें आ रही हैं कि भारत प्रतिबंधों से छूट मांगने की योजना बना रहा है और यह सऊदी अरब से खरीद जारी रखने के लिए वैकल्पिक भुगतान तंत्र को भी देख रहा है.

ये भी पढ़ें : शेल कंपनियों पर बड़ी कार्रवाई, BSE करेगा इन 222 कंपनियों को डीलिस्ट

First published: 3 July 2018, 17:30 IST
 
अगली कहानी