Home » बिज़नेस » WhatsApp Gold is a Hoax and Could Install Malware on Your Mobile
 

सावधान ! गोल्डन कलर का ये WhatsApp कहीं आपने तो डाउनलोड नहीं किया ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 16:06 IST

विशेषज्ञों और मीडिया की कई चेतावनियों के बावजूद सोशल मीडिया पर व्हाट्सएप गोल्ड को डाउनलोड करने का झांसा दिया जा रहा है. जबकि कई यूजर्स व्हाट्सएप गोल्ड या सिल्वर संस्करण को इनस्टॉल करने या एक्टिव करने के लिए संदेश प्राप्त कर रहे हैं. हालांकि यह एक बड़ा धोखा है जो पहली बार 2016 में सामने आया था. पहले बताया जा रहा था कि यह हरे रंग में उपलब्ध व्हाट्सएप का यह एकमात्र संस्करण है.

जबकि सच्चाई यह है कि व्हाट्सएप का कोई गोल्ड या सिल्वर संस्करण नहीं है. जानकारों का कहना है कि इस संस्करण को डाउनलोड करने से आपके मोबाइल मैलवेयर आए सकता है. फैक्ट-चेकिंग पोर्टल स्नोप्स के अनुसार जब उपयोगकर्ता लिंक पर क्लिक करते हैं, तो वे संभावित रूप से व्हाट्सएप गोल्ड नामक एक दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर डाउनलोड कर रहे हैं.

ऐसे दिया जा रहा है झांसा

व्हाट्सएप गोल्ड के बारे में संदेश में लिखा है "आख़िरकार सीक्रेट व्हाट्सएप गोल्डन संस्करण को लीक कर दिया गया है. इस संस्करण का उपयोग केवल बड़ी हस्तियों द्वारा किया जाता है. अब हम इसे भी उपयोग कर सकते हैं. व्हाट्सएप गोल्ड में व्हाट्सएप वीडियो कॉलिंग जैसे कई एडवांस्ड फीचर्स हैं, जिसमे आपके द्वारा गलती से भेजे गए मैसेज भी डिलीट किये जा सकते हैं. बताया जा रहा है कि इससे 100 से अधिक pics भेजे जा सकते हैं.

व्हाट्सएप गोल्ड के झांसे से जुड़े कुख्यात मैलवेयर में से एक मार्टिनेली है, लेकिन यह वह नहीं है जो आपके मोबाइल डिवाइस पर डाउनलोड हो जाता है. वीडियो डाउनलोड करने के बारे में उपयोगकर्ताओं को डराने के लिए मार्टिनेली नाम का उपयोग किया गया था. लेकिन यह व्हाट्सएप के साथ कैसे जुड़ा, इसकी जानकारी नहीं है.  2017 में भी व्हाट्सएप यूजर्स में दहशत पैदा करने के लिए मार्टिनेली नाम का इस्तेमाल किया गया था.

टेक्स्ट संदेश ने उपयोगकर्ताओं को चेतावनी दी कि वे मार्टिनली नाम के एक वीडियो को डाउनलोड या खोलें नहीं, जिसके बारे में दावा किया गया था कि वह मोबाइल पर वायरस डाउनलोड करेगा. लेकिन ऐसा कोई वीडियो मौजूद नहीं है. हालांकि, जब कुछ उपयोगकर्ताओं ने लिंक खोला तो उन्हें एक ऐसी वेबसाइट पर ले जाया गया, जो मैलवेयर से त्रस्त थी, जिसने उनके मोबाइल को संक्रमित कर दिया और संदेश और निजी डेटा भी एक्सेस किया.

अपनी वेबसाइट पर व्हाट्सएप ने कहा, "व्हाट्सएप और जीबी व्हाट्सएप जैसे असमर्थित ऐप, व्हाट्सएप के परिवर्तित संस्करण हैं. ये अनौपचारिक एप्लिकेशन तृतीय पक्षों द्वारा विकसित किए गए हैं और हमारी सेवा की शर्तों का उल्लंघन करते हैं. व्हाट्सएप इन तृतीय-पक्ष का समर्थन नहीं करता है. कुछ महीने पहले अधिसूचना के बाद व्हाट्सएप ने अपने मैसेंजर ऐप के संशोधित संस्करणों का उपयोग करने वाले खातों पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगा दिया था. व्हाट्सएप का उपयोग जारी रखने के लिए, संशोधित संस्करण के उपयोगकर्ताओं को व्हाट्सएप के आधिकारिक संस्करण को डाउनलोड करने और उपयोग करने की आवश्यकता है.
 KIA मोटर्स ने किया भारत में अपनी पहली कार का खुलासा, 'Seltos' रखा नाम

First published: 4 June 2019, 16:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी