Home » बिज़नेस » Whistle-blower levels fresh allegations against ICICI Bank CEO Chanda Kochhar
 

अब व्हिसिल ब्लोअर ने PM मोदी को लेटर लिखकर चंदा कोचर पर लगाए ये गंभीर आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 June 2018, 17:52 IST

कथित वीडियोकॉन ऋण धोखाधड़ी का पर्दाफाश करने वाले व्हिसिल-ब्लोअर अरविंद गुप्ता ने आईसीआईसीआई बैंक की एमडी और सीईओ चंदा कोचर पर नए आरोप लगाए हैं. उन्होंने दावा किया है कि आईसीआईसीआई बैंक ने चंदा कोचर के पति दीपक कोचर के न्यू पावर समूह जो मौजूदा वीडियोकॉन लोन जांच के केंद्र में है, में 'राउंड-ट्रिपिंग' निवेश के लिए एस्सार समूह के रुईया भाइयों का पक्ष लिया था.

गुप्ता ने आरोप लगाए हैं कि चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोच्चर और एस्सार ग्रुप ने मॉरिशस बेस्ड एंटिटीज के माध्यम से 453 करोड़ रुपए की राउंड ट्रिपिंग की. 11 मई को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे एक पत्र में व्हिसिल-ब्लोअर ने कहा कि न्यूपावर को एस्सार के रवि रुइया के दामाद निशांत कनोडिया के स्वामित्व वाली मॉरिशस बेस्ड मैटिक्स ग्रुप और फर्स्टलैंड होल्डिंग्स के माध्यम से एस्सार से राउंड ट्रिप्ड इन्वेस्टमेंट मिला.

पत्र में कहा गया है कि निशांत कनोडिया (रवि रुइया की बेटी स्मिति रुइया के पति) ने मटिक्स ग्रुप (कनोडिया द्वारा सह-प्रचारित) की होल्डिंग कंपनी - फर्स्टलैंड होल्डिंग्स के माध्यम से न्यू पावर में निवेश किया था. आईसीआईसीआई बैंक और एस्सार ग्रुप ने इन आरोपों से इनकार किया है। एस्सार ग्रुप के एक स्पोक्सपर्सन ने कहा, ‘एस्सार का फर्स्डलैंड होल्डिंग्स में कोई बिजनेस इंटरेस्ट नहीं है.

गौरतलब है कि टैक्स चोरी करने के लिए राउंड ट्रिपिंग का तरीका अपनाया जाता है. इसमें कंपनियां एफडीआई के जिस पैसे को बताती है वह पूरा एफडीआई नहीं होता है. इससे कंपनियों को टैक्स में लाभ मिल जाता है.

ये भी पढ़ें : Xiaomi की नयी Mi Band 3 हुई लांच, ज्यादा देर खाली बैठे तो बजने लगेगा रिमाइंडर

First published: 2 June 2018, 17:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी