Home » बिज़नेस » Who is Election Commissioner Ashok Lavasa, whose three family members are on the income tax radar
 

कौन हैं चुनाव आयुक्त अशोक लवासा, जिनके परिवार के तीन सदस्य आयकर की रडार पर हैं

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 September 2019, 9:24 IST

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की पत्नी ही नहीं बल्कि उनके परिवार के तीन सदस्य आयकर की रडार पर हैं. आयकर ने उनकी बहन शकुंतला लवासा और नरिश ऑर्गेनिक फूड्स लिमिटेड कंपनी, जिसमें उनके बेटे अबीर लवासा एक निदेशक हैं, को भी एक नोटिस भेजा है. रिपोर्ट के अनुसार अगस्त के पहले सप्ताह में कंपनी की खातों की बुक्स का भी एक सर्वेक्षण किया गया था.

चुनाव आयोग के तीन आयुक्तों में से एक अशोक लवासा तब से सुर्ख़ियों में आये जब उन्होंने विगत लोकसभा चुनाव अभियान के दौरान कई मौकों पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को आयोग द्वारा दी गई क्लीन चिट का विरोध किया था.


हरियाणा कैडर के 1980 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक सेवानिवृत्त अधिकारी हैं और भारत के दो चुनाव आयुक्तों में से एक हैं. उन्होंने भारत के वित्त सचिव, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन सचिव और भारत के नागरिक उड्डयन सचिव के रूप में भी कार्य किया है.

इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि टैक्स विभाग ने एक बिल्डर फर्म रूपाली बिल्डवेल प्राइवेट लिमिटेड से भी पूछताछ की है, जिसने गुड़गांव में चार मंजिला इमारत बनाई, जिसके सह-मालिक अशोक लवासा और उनकी पत्नी नोवेल हैं. टैक्स अधिकारियों ने गुड़गांव में बिल्डर के कार्यालय और निवास का दौरा किया.

विभाग ने शकुंतला लवासा को 2017-18 में 1.86 करोड़ रुपये में एक अपार्टमेंट की बिक्री के आधार पर भवन की कीमत 7.2 करोड़ रुपये आंकी है. कहा गया है कि इस निवेश के लिए जांच की आवश्यकता है. इसकी प्रारंभिक जांच में पाया गया कि अशोक लवासा के पास चार संपत्तियां हैं जिसमें तीन गुड़गांव में और एक नोएडा में शामिल हैं.

रिपोर्ट के अनुसार विभाग द्वारा दिए गए नोटिस के मुद्दे पर अशोक और शकुंतला लवासा दोनों ने टिप्पणी करने से इनकार किया है. नरिश ऑर्गेनिक फूड्स, जिसमें 14 नवंबर, 2017 से अबीर एक निदेशक हैं, को मॉरीशस स्थित एक इंडिया आधारित निवेशक सामा कैपिटल से मार्च 2019 में 7.25 करोड़ रुपये मिले थे.

आरओसी रिकॉर्ड के अनुसार यह 50,000 शेयरों को 1,500 रुपये प्रति पीस पर आवंटित किया गया था. 29 मार्च 2019 को इस कीमत पर, अबीर की हिस्सेदारी 1.5 करोड़ रुपये होगी. Saama Capital ने भारत में Paytm, ChaiPoint, Vistaar (NBFC), Snapdeal और SKS माइक्रोफाइनेंस सहित कई स्टार्ट-अप में निवेश किया है.

RoC दस्तावेज़ों में दिखाया गया है कि नरिश ऑर्गेनिक का प्रचार, सीमा जींदलिया की पत्नी, संदीप जाजोदिया की पत्नी, मोनेट समूह के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, स्वर्गीय ओ पी जिंदल की बेटी द्वारा किया गया था. इसने 2017-18 में 5.33 करोड़ रुपये के कुल राजस्व पर 16.86 लाख रुपये का लाभ कमाया. पिछले वर्ष इसने 3.4 करोड़ रुपये के राजस्व पर 24.4 लाख रुपये का नुकसान दर्ज किया.

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की पत्नी को टैक्स चोरी के आरोप में I-T नोटिस

First published: 25 September 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी