Home » बिज़नेस » Wholesale inflation at 5.77% in June, highest since December 2013
 

थोक महंगाई दिसंबर 2013 के बाद सबसे उच्च स्तर पर पहुंची

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 July 2018, 13:26 IST

सोमवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, थोक स्तर पर महंगाई जून में 5.77 प्रतिशत हो गई, जो दिसंबर 2013 के बाद से सबसे अधिक है. इसके पीछे ईंधन की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी को जिम्मेदार माना जा रहा है. मई में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) में वृद्धि जुई जो मई में 4.43% से बढ़ गई. पिछले वर्ष जून में यह 0.9% से कहीं अधिक है.

सूचकांक के प्राथमिक सामानों में मुद्रास्फीति मई में 3.16% से बढ़कर जून में 5.3% हो गई, यह खाद्य मूल्य मुद्रास्फीति के कारण नहीं है, जो इसी अवधि के दौरान 1.6% से केवल मामूली रूप से 1.8% तक पहुंच गया.

थोक महाबगाई में वास्तविक वृद्धि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस में हुई बढ़ोतरी के कारण हुआ है. जिसने मुद्रास्फीति जून में 48.7% तक बढ़ा दिया जो पिछले महीने 26.9% थी. इसी प्रकार ईंधन और बिजली खंड में इसी अवधि के दौरान मुद्रास्फीति 11.2% से बढ़कर 16.2% हो गई.
जबकि विनिर्माण क्षेत्र में थोक मुद्रास्फीति मई में 3.73% से जून में 4.17% हो गई.

ये भी पढ़ें : वेदांता ने तूतीकोरिन प्लांट के कर्मचारियों से कहा- सोमवार से काम पर आएं

First published: 16 July 2018, 13:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी