Home » बिज़नेस » Why did Jio call 6 paise per minute on other networks? Here is the whole story
 

Jio ने दूसरे नेटवर्क पर कॉल रेट 6 पैसे प्रति मिनट क्यों की ? ये रही पूरी कहानी

सुनील रावत | Updated on: 10 October 2019, 12:06 IST

अन्य कंपनियों के नेटवर्क पर कॉल रेट 6 पैसे मिनट करने पर रिलायंस जियो ने कहा कि इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज (IUC) ख़त्म करने के TRAI के फैसले पर अनिश्चितता बनी हुई है इसलिए उसे वॉयस कॉल के लिए अपने ग्राहकों को चार्ज करना शुरू करना पड़ा है. अब तक यह उपयोगकर्ताओं को चार्ज करने के बजाय अपनी जेब से अन्य कंपनियों शुल्क दे रहा था. एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले तीन वर्षों में Jio ने अन्य ऑपरेटरों को शुद्ध IUC शुल्कों के रूप में लगभग 13,500 करोड़ का भुगतान किया है.

अब अपनी जेब से नहीं चुका सकता IUC

जियो ने कहा कि उसने 2017 में TRAI के इस फैसले के बाद मुफ्त वॉयस कॉल की पेशकश की थी जिसमे जनवरी 2020 तक IUC शुल्कों शून्य करने का रोडमैप रखा गया था. हाल ही में जारी परामर्श पत्र में TRAI ने इसे जारी रखा है. RJio ने कहा कि वह इन शुल्कों पर सब्सिडी जारी नहीं रख सकता है और इसे उपभोक्ताओं को देने के लिए मजबूर किया जा रहा है.

 

TRAI ने 14 से 6 पैसे किया था इंटरकनेक्ट चार्ज

साल 2017 में जियो ने ट्राई से इंटरकनेक्ट चार्ज ख़त्म करने या कम करने का अनुरोध किया था. तब चर्चा के बाद IUC को 14 पैसे से 6 पैसे कर दिया गया था. जब जियो शुरू हुआ था तब उसके अन्य कंपनियों के मुकाबले कम ग्राहक थे और उसे इंटरकनेक्ट चार्ज के रूप में ज्यादा रकम चुकानी पड़ रही थी. इस चार्ज को 14 पैसे से 6 करने के बाद जियो को बड़ी राहत मिली थी. हालांकि उस वक्त जियो ने अपने ग्राहक बेस बढ़ाने के लिए अपनी वॉइस कॉल फ्री रखी.

इसका परिणाम यह भी हुआ कि बाकी टेलिकॉम कंपनियों को भी अपने टैरिफ प्लान बदलने पड़े. इस प्रतिस्पर्धा ने कई छोटी कंपनियां बन गई. इसकी चपेट में अनिल अंबानी की आरकॉम भी शामिल थी. कई बात अनिल अंबानी ने खुले तौर पर इस बात को माना कि जियो आने के बाद उनकी कमाई पर असर पड़ा है. जिस वक़्त जियो लॉन्च हुआ उस वक्त कंपनियां बड़े कर्ज के संकट से गुजर रही थी.

क्या है IUC

यह एक मोबाइल टेलिकॉम ऑपरेटर द्वारा दूसरे को भुगतान की जाने वाली लागत है, जब इसके ग्राहक दूसरे ऑपरेटर के ग्राहकों को आउटगोइंग मोबाइल कॉल करता हैं. दो अलग-अलग नेटवर्क के बीच ये कॉल मोबाइल ऑफ-नेट कॉल के रूप में जानी जाती हैं.

Jio Update : फ्री कॉल ख़त्म करने के बाद ये रहे Jio के टॉपअप प्लान

BSNL कर्मचारियों का PM मोदी को पत्र, कहा- Jio से बड़ा है हमारा फाइबर नेटवर्क

First published: 10 October 2019, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी