Home » बिज़नेस » Why is Venezuela ready to give 30% discount on oil export to India?
 

भारत को तेल पर 30 % का डिस्काउंट देने को क्यों तैयार है ये देश ?

सुनील रावत | Updated on: 28 April 2018, 12:49 IST

भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं. जब मार्च 2012 में ब्रेंट क्रूड ऑयल की इंटरनेशनल  कीमत 125 डॉलर प्रति बैरल से घटकर जनवरी 2015 में 29.25 डॉलर हो गई तो भारत ने अपनी 80 फीसदी तेल आवश्यकताओं को आयात किया. इस आयात से सरकार को भारी फायदा हुआ. जब कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने लगी है तब सरकार को भारी बचत का एक हिस्सा गंवाना होगा. हालांकि अब ब्रेंट क्रूड 70 डॉलर से अधिक हो गया और सरकार पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज टैक्स कम करने को तैयार नहीं है. आगे भी तेल के दाम लगातार बढ़ने की संभावना है.

वेनेजुएला में दुनिया का सबसे बड़ा तेल भंडार है लेकिन वह तेल पंप करने में असमर्थ है. वेनेजुएला में कच्चे तेल के उत्पादन में संभावित कटौती के बारे में के लेख में कहा गया है कि वेनेज़ुएला में सरकारी कंपनी, पीडीवीएसए, संसाधनों की कमी और लोगों की कमी के कारण पर्याप्त तेल पंप नहीं कर सकती है. सक्षम लोग दूसरे देशों में चले गए हैं जिसके कारण उत्पादन घट गया है.

भारत को ऑफर 

एक रिपोर्ट की माने तो वेनेजुएला ने भारत को 30 फीसदी रियायत पर कच्चा तेल निर्यात करने की पेशकश की है. इसके बदले भारत को उसकी वर्चुअल करेंसी पेट्रो खरीदनी होगी. यह किसी देश द्वारा आधिकारिक तौर पर मान्य पहली वर्चुअल मुद्रा है. वेनेजुएला ने अपने तेल भंडार को ध्यान में रखकर ही इस मुद्रा की शुरुआत की है. बताया जाता है कि कई लोग इसे सबसे सुरक्षित वर्चुअल करेंसी के तौर पर देख रहे हैं.

लगातार मंदी की मार झेल रही अर्थव्यवस्था ने वेनेजुएला में बड़ा संकट पैदा कर दिया है. इसके कारण सैकड़ों नागरिक हर दिन पड़ोसी देशों से भागते हैं. इस देश की जीडीपी 95 फीसदी तेल एक्सपोर्ट पर टिकी है. यूएस एनर्जी इनफॉर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार, जनवरी 2016 से जनवरी 2018 तक इसमें 50% से अधिक की गिरावट आई है.

बैंक ऑफ अमेरिका के विश्लेषकों मेरिल लिंच ने उम्मीद की है कि देश के कच्चे तेल के उत्पादन में यह गिरावट जारी रहेगी, जो सालाना 1.1 मिलियन बैरल तक जा सकती है. बीएमआईएसए के विश्लेषण के मुताबिक, पीडीवीएसए रिफाइनरियों में महत्वपूर्ण रखरखाव और मरम्मत की कमी ने उन्हें 30% की रिकॉर्ड-कम उपयोग दर पर परिचालन कर दिया है.

First published: 28 April 2018, 12:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी