Home » बिज़नेस » Why nearly two and a half lakh companies in the country closed in the last one year
 

क्यों पिछले एक साल में देश की लगभग ढाई लाख कंपनियां बंद हो गई ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 March 2018, 12:56 IST

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय (एमसीए) में पंजीकृत देश की कंपनियों में से एक तिहाई बंद हो गई है, जिनमें से करीब आधी कंपनियां पिछले एक साल में बंद हुई. एमसीए के आंकड़ों से पता चलता है कि 31 जनवरी 2018 तक लगभग 17 लाख कंपनियां सरकार के साथ पंजीकृत थीं, इनमें से 538000, या लगभग 32 प्रतिशत ने अपनी दुकाने बंद कर दी.

एक रिपोर्ट के अनुसार बंद हुई कंपनियों में लगभग 238,000 या कुल 15 प्रतिशत ने पिछले एक में अपना कारोबार बंद कर दिया. इसका मतलब है कि वर्ष में सात कंपनियों में से एक बंद गई.

एमसीए के आंकड़ों के मुताबिक 31 जनवरी 2017 को करीब तीन लाख कंपनियां जुड़ी हुई थीं, इनमें से ज्यादातर कंपनियां कंपनी अधिनियम 2013 की धारा 248 के तहत बंद हो गई. लगभग 538,000 कंपनियों ने इस साल जनवरी के अंत अपनी दुकान बंद कर दी.

एक साल की अवधि में इतनी बड़ी संख्या में कंपनियां के बंद होने का कारण शेल कंपनियों पर कार्रवाई, कंपनियों के नियामक अनुपालन और बैंक ऋण जैसे कारण बताये गए हैं.

First published: 25 March 2018, 12:56 IST
 
अगली कहानी