Home » बिज़नेस » Withdrawing money from ATM will be expensive, RBI allows banks to increase charges
 

झटका : ATM से पैसे निकालना होगा महंगा, RBI ने बैंकों को दी चार्ज बढ़ाने की अनुमति

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2021, 16:04 IST

भारतीय रिजर्व बैंक ने गुरुवार को बैंकों को एटीएम मशीनों के इस्तेमाल पर शुल्क बढ़ाकर 21 रुपये प्रति लेनदेन करने की अनुमति दे दी है. एक नोटिफिकेशन में केंद्रीय बैंक ने कहा कि अधिकतम शुल्क 20 रुपये प्रति लेनदेन से संशोधित किया जाएगा. नए शुल्क 1 जनवरी, 2022 से प्रभावी होंगे. RBI के अनुसार संशोधित शुल्क बैंकों को उच्च इंटरचेंज शुल्क के लिए मुआवजा देगा. जो एक व्यापारी बैंक कार्ड जारी करने वाले बैंक को हर बार भुगतान करता है जब कोई ग्राहक अपना क्रेडिट या डेबिट कार्ड स्वाइप करता है.

केंद्रीय बैंक ने अपने नोटिफिकेशन में कहा है कि प्रति वित्तीय लेनदेन पर इंटरचेंज शुल्क 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये किया जाएगा. गैर-वित्तीय लेनदेन के मामले में इंटरचेंज शुल्क को वर्तमान में 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये किया जाएगा. यह 1 अगस्त 2021 से लागू होगा.


ग्राहकों को अभी भी अपने स्वयं के बैंक एटीएम से मासिक आधार पर वित्तीय और गैर-वित्तीय सहित पांच मुफ्त लेनदेन की अनुमति है. वे मेट्रो केंद्रों में अन्य बैंक एटीएम से तीन और गैर-मेट्रो केंद्रों में पांच मुफ्त लेनदेन के लिए भी पात्र हैं.

कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने शुल्क ढांचे में बढ़ोतरी के लिए नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की है. उन्होंने ट्वीट किया "वह समय दूर नहीं जब मोदी सरकार बैंक की एक झलक, पैसे को देखने, पैसे को छूने के लिए टैक्स लगाएगी."

केंद्रीय बैंक ने कहा कि एटीएम लेनदेन के लिए इंटरचेंज शुल्क संरचना में आखिरी बदलाव अगस्त 2012 में हुआ था. नए बदलावों को एटीएम शुल्क और इंटरचेंज शुल्क का अध्ययन करने के लिए जून 2019 में गठित एक समिति की सिफारिशों के आधार पर मंजूरी दी गई थी.

Gold Price Today : सोना हुआ उच्च स्तर से 7000 सस्ता, जानिए आज क्या हैं 22 कैरेट के दाम

First published: 11 June 2021, 15:59 IST
 
अगली कहानी