Home » छत्तीसगढ़ » Chhattisgarh: Security forces busted a naxal hideout in Sukma's Jamped area; arms and ammunition recovered.
 

सुरक्षाबलों पर बड़े हमले की तैयारी में थे नक्सली

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 August 2017, 16:55 IST

छत्तीसगढ़ में दंतेवाड़ा पुलिस और बस्तर में तैनात सुरक्षा बलों ने कटेकल्याण इलाके में दो दिन तक चलाए गए गोपनीय अभियान के तहत एक नक्सली कैम्प को धवस्त कर दिया. इसके बाद सुरक्षाबलों ने यहां से बड़ी संख्या में विस्फोटक सामाग्री बरामद की है. नक्सलियों ने बड़ी वारदात को अंजाम देने के मकसद से भारी मात्रा में गोला-बारूद इकट्ठा कर रखा था.

 

दंतेवाड़ा एसपी कमलोचल कश्यप ने बताया, "सुकमा और दंतेवाड़ा पुलिस की संयुक्त टीम ने मंगलवार-बुधवार को इस गोपनीय अभियान को अंजाम दिया. गुरूवार सुबह टीम लौटी और जवानों ने अधिकारियों के समक्ष अभियान की सफलता का पूरा ब्यौरा रखा. खुफिया सूचना के आधार पर यह अभियान चलाया गया था. गश्त पर निकली संयुक्त पार्टी ने बारीकी से इलाके की छानबीन की, सूचना सही निकली. नक्सलियों ने किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए कटेकल्याण थाना क्षेत्र की मोरंगा की पहाड़ियों में भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री इकट्ठा कर रखा था."

टीम में शामिल दंतेवाडा के डीआरजी, एसटीएफ और सीआरपीएफ की 195वीं वाहिनी (कटेकल्याण) के जवानों ने नक्सलियों के मंसूबों पर पानी फेर दिया. मौके पर पुलिस के साथ नक्सलियों की मुठभेड़ भी हुई. पुलिस टीम को भारी पड़ता देख नक्सली भाग खड़े हुए.

मौके से क्या-क्या हुआ बरामद -
नक्सली अड्डे से एक एयर गन सहित गोलियों के दो पैकेट, 77 तीर बम, 53 डेटोनेटर, 4 बंडल कोडेक्सा वायर, 43 ग्रेनेड, 20 वायर रहित डेटोनेटर, 1 ड्रम विस्फोटक पावडर, वायरलेस सेट चार्जर, जिलेटीन के 86 स्टिक, 10 किलोग्राम सल्फर, 1 बंडल बिजली वायर, 3 सेफ्टी फ्यूज, एक बंडल रस्सी, तीन किलोग्राम सफेद विस्फोटक, 10 पैकेट सफेद विस्फोटक पाउडर, 1 सेट सोलर प्लेट, 3 खाली टिफिन और 1 टंगिया बरामद हुआ है.

नक्सलियों ने यह विस्फोट सामग्री सुरक्षा बलों पर हमला करने के मकसद से एकत्रित की थी. जिलेटीन तेलंगाना के नलगोण्डा और अमोनियम नाइट्रेट ओडिशा के राउरकेला की एक फैक्ट्री में निर्मित है.

First published: 24 August 2017, 16:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी