Home » छत्तीसगढ़ » Darbhanga murder case: sushil modi claims were rejected by giriraj singh and nityanand rai, questions raised on bihar police
 

दरभंगा हत्याकांड- सुशील मोदी के दावे को गलत मानते हैं गिरिराज सिंह और नित्यानंद राय

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 March 2018, 8:34 IST

दरभंगा में बीजेपी कार्यकर्ता के पिता की गला रेत कर हत्या मामले में नया मोड़ आया है. पहले दावा किया जा रहा था कि एक चौराहे का नाम प्रधानमंत्री के नाम पर रखने के कारण बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी. बाद में बिहार पुलिस ने बताया कि इस हत्या का चौक के नामकरण से कोई लेना देना नहीं है.

इसके अलावा बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने भी इस घटना में मोदी चौक की वजह होने से इनकार किया है. उप मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट संदेश में कहा कि यह सरासर गलत है कि दरभंगा में मोदी चौक नाम रखने के कारण हत्या हुई. यह जमीन विवाद का मामला है. उन्होंने कहा कि बोर्ड तो बहुत पहले रखा गया था. इस हत्या का बोर्ड से कोई लेना-देना नहीं है.

बिहार बीजेपी के अध्‍यक्ष नित्‍यानंद राय ने पत्रकारों से कहा, 'यह विवाद जो बढ़ गया और हत्‍या तक पहुंच गया, इसके पीछे यही कारण है कि इस चौक का नाम मोदी चौक रखा गया. इस तरह से बिहार बीजेपी के ही वरिष्‍ठ नेता पुलिस और उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी के दावों को खारिज कर रहे हैं.

पढ़ें- स्वामी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर सुझाया राम मंदिर बनाने का फॉर्मूला

बता दें कि बिहार के दरभंगा जिले के सदर पुलिस थाना इलाके के भदवा गांव में गुरूवार की रात कुछ लोगों ने रामचंद्र यादव (65) के घर में घुसकर उनकी हत्या कर दी. बताया जाता है कि हमलावरों की संख्या 50 के आसपास थी. हमलावरों ने रामचंद्र के बेटे कमलेश पर भी हमला किया. कमलेश भाजपा कार्यकर्ता है.

First published: 18 March 2018, 8:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी