Home » क्रिकेट » 10 glorious years completed on September 24 as on the same day in 2007 #TeamIndia was crowned World T20 champions
 

एक दशक पहले आज ही के दिन टीम इंडिया ने जीता था T20 वर्ल्ड कप

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 September 2017, 15:30 IST

एक ओर तो रविवार को इंदौर के होल्कर स्टेडियम में टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही सिरीज का तीसरा वनडे मैच खेला जा रहा है. तो दूसरी ओर ठीक 10 साल पहले आज ही के दिन टीम इंडिया ने पहला टी20 वर्ल्ड कप जीता था.

यह दिन हमेशा भारतीय क्रिकेट के इतिहास में याद किया जाएगा क्योंकि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली युवा टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका में पहली बार आयोजित T20 वर्ल्ड कप जीता था.

इस साल ही वेस्ट इंडीज में हुए ICC वर्ल्ड कप से टीम इंडिया शर्मनाक ढंग से ग्रुप स्टेज में ही बाहर हो गई थी. लेकिन बाद में T20 वर्ल्ड कप जीतकर भारतीय क्रिकेटर्स ने दुनिया को अपनी ताकत से रूबरू कराया था.

 

हालांकि उस वक्त किसी ने भी T20 क्रिकेट को गंभीरता से नहीं लिया था और BCCI तक ने 20 ओवरों वाले क्रिकेट के इस प्रारूप का मजाक उड़ाया था. क्रिकेट प्रशंसक भी उस वक्त इसको उतना नहीं समझ पाए थे.

लेकिन देश में यह बेहतरीन ढंग से चालू हुआ और धीरे-धीरे इसने बहुत प्रसिद्धि पा ली. इस T20 वर्ल्ड कप सिरीज में टीम इंडिया ने अपना विजय अभियान जारी रखा था लेकिन केवल न्यूजीलैंड के खिलाफ एक मैच हारी थी.

इसके बाद फाइनल में टीम इंडिया के सामने चिर-प्रतिद्वंदी टीम पाकिस्तान थी और मैच का रोमांच चरम पर पहुंच चुका था. इससे पहले ग्रुप स्टेज में टीम इंडिया पाकिस्तान को हरा चुकी थी.

इसके बाद 24 सितंबर 2007 को खेले गए फाइनल मैच में टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया. गौतम गंभीर के शानदार 75 रनों की बदौलत टीम ने 158 रनों का स्कोर खड़ा किया. वहीं, पाकिस्तान की ओर से उमर गुल ने अच्छी गेंदबाजी करते हुए तीन विकेट लिए.

 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान की टीम के विकेट एक निश्चित अंतराल पर गिरते रहे. लेकिन बाद में आए मिसबाह-उल-हक ने टीम को संभाला. आखिरी ओवर में पाकिस्तान को जीत दिलाने के लिए 13 रन चाहिए थे. वहीं, हाथ में केवल एक विकेट था.

इसके बाद धोनी ने आखिरी ओवर में गेंदबाजी की जिम्मेदारी हरियाणा के ऑलराउंडर जोगिंदर शर्मा को दी. जोगिंदर ने पहली ही गेंद वाइड फेंकी, जबकि अगली ही गेंद पर मिसबाह ने छक्का जड़ दिया. उस वक्त लगा था कि पाकिस्तान ने मैच जीत लिया है. इसके बाद केवल चार गेंदों पर पाकिस्तान को 6 रन चाहिए थे.

हालांकि मिसबाह ने जोगिंदर की गेंद को शॉर्ट फाइन लेग पर मार दिया लेकिन गेंद उनके बल्ले पर सही तरह से नहीं आई और वो कैच दे बैठे और टीम इंडिया ने फाइनल मुकाबला जीत लिया. 

First published: 24 September 2017, 15:30 IST
 
अगली कहानी