Home » क्रिकेट » 1st time India failed to hit a Six in An ODi against England after World Cup 2011 Semi-final againt Pakistan
 

7 साल बाद फिर से टीम इंडिया के 11 दिग्गज नहीं लगा पाए एक भी 'सिक्स', बन गया शर्मनाक रिकॉर्ड

विकाश गौड़ | Updated on: 15 July 2018, 15:00 IST
(File Photo)

क्रिकेट के मैदान पर हर एक बॉल कोई न कोई रिकॉर्ड बनाती है और हर एक रन अपने आप में एक रिकॉर्ड होता है. यहां तक कि बाउंड्री लगाना भी अपने आप में एक रिकॉर्ड है. ऐसा ही एक रिकॉर्ड जिसे हम शर्मनाक कहें तो गलत नहीं होगा वो टीम इंडिया ने शनिवार को खेले गए इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स वनडे में बनाया है.

बता दें, टीम इंडिया इस मुकाबले को 86 रन से हार गई थी. इसी के साथ तीन मैचों की सिरीज बराबरी पर आ खड़ी हो गई. लेकिन इस मैच में टीम इंडिया के नाम जो शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हुआ वो काफी हैरान करने वाला है. ये रिकॉर्ड ऐसा है जो विराट ब्रिगेड को कभी गले नहीं उतरेगा.

दरअसल, टीम इंडिया शनिवार को खेले गए मुकाबले में 323 रन का पीछा कर रही थी. इस दौरान भारतीय टीम 236 रन पर ढेर हो गई. इस पारी में कोई भी भारतीय बल्लेबाज ऐसा नहीं था जिसने लंबी पारी खेली हो. भारतीय पारी में सबसे ज्यादा रन सुरेश रैना(46) और विराट कोहली(45) ने बनाए.

ये भी पढ़ेंः धोनी की धीमी बल्लेबाजी के बचाव में आए कोहली, कहा- वो हर मैच नहीं जिता सकते

इस भारतीय पारी की सबसे शर्मनाक बात ये रही कि 11 बल्लेबाजों(जिनमें से 7 दिग्गज बल्लेबाज थे) में से कोई भी बल्लेबाज गेंद को छक्के के लिए नहीं पहुंचा पाया. यहां तक कि भारतीय पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने बल्लेबाज भी एक भी बार गेंद को सिक्स के लिए भेज सके, जो कि सात साल बाद देखा गया है.

भारतीय पारी में 16 चौके लगे, लेकिन एक भी छक्का नहीं लगा. इससे पहले टीम इंडिया के साथ ऐसा वर्ल्ड कप 2011 के सेमीफाइनल मैच में हुआ था जब भारतीय बल्लेबाज पाकिस्तान के खिलाफ एक भी छक्का नहीं लगा पाए थे. उस दौरान टीम में वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलर और युवराज सिंह जैसे धाकड़ बल्लेबाज थे.

ये भी पढ़ेंः Video: जब स्टेडियम में बैठे युवक ने गर्लफ्रेंड को किया प्रपोज, थर्ड अंपायर करता रहा फैसले का इंतजार

साल 2011 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल मैच में भारतीय टीम 260 रन बना पाई थी. इस दौरान टीम के 9 विकेट गिर गए थे. इस दौरान कोई भी बल्लेबाज पंजाब के मोहाली में खेले गए इस मैच में एक भी छक्का नहीं लगा पाया था. इस मुकाबले में सचिन तेंदुलकर ने 85 रन की पारी खेली थी, जिसमें उनके 11 चौके शामिल थे.

File Photo

वहीं, पाकिस्तान के खिलाफ लंबी-लंबी पारियां खेलने वाले वीरेद्र सहवाग भी अपनी 38 रन की पारी में एक छक्का नहीं लगा पाए थे. हालांकि उनकी इस पारी में 9 चौके(38 में से 36 रन चौकों से) जरूर शामिल थे. हालांकि मैच इंडिया 29 रन से जीत गई थी. लेकिन इस बार टीम को हार का सामना करना पड़ा है.

ये भी पढ़ेंः धोनी जैसा दुनिया में कोई नहीं, यकीन ना हो तो आंकड़े देख लीजिए

लॉर्ड्स वनडे में किसी भी टाइम ऐसा नहीं लगा कि कोई भारतीय बल्लेबाज इस मैच में छक्का लगा पाएगा. पहले रोहित शर्मा ने स्टेप आउट कर छक्का लगाने की कोशिश की तो वो बोल्ड हो गए. इसके बाद सभी बल्लेबाज धीमे खेले. आखिर में धोनी भी तेज रन बनाने के लिए गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचानी चाहते थे और बाउंड्री पर लपके गए.

First published: 15 July 2018, 14:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी