Home » क्रिकेट » 3 tons imposed in womens odi first time ever in a Match 100 runs scored by Tammy Beaumont Sarah Taylor Lizelle Lee ENG vs SA ODI
 

वनडे मैच में पहली बार लगे इतने शतक, बन गया ऐतिहासिक रिकॉर्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 June 2018, 14:06 IST

महिला क्रिकेट टीमें अब अपने सातवें आसमान पर हैं. कभी कोई टीम कोई रिकॉर्ड बना देती है तो कभी किसी देश की महिला क्रिकेटर कोई और रिकॉर्ड ध्वस्त कर देती हैं. हाल ही में जहा न्यूजीलैंड ने वनडे की सबसे बड़ा स्कोर बना कर महिला क्रिकेट ही नहीं बल्कि पुरुष क्रिकेट का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया था.

आयरलैंड के खिलाफ डब्लिन वनडे में न्यूजीलैंड ने आयरलैंड के खिलाफ 490 रन बनाए थे जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बन गया. बता दें कि वनडे क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार था जब किसी ने किसी टीम को 491 रन का टारगेट दिया हो. इतना ही नहीं उसी सिरीज में न्यूजीलैंड ने दूसरे मुकाबले में 5वीं बार 400 से ज्यादा रन भी बनाए.

इसके अलावा विमेंस एशिया कप में भारत को हराकर बांग्लादेश की टीम ने इतिहास रच दिया. दरअसल, अभी तक विमेंस क्रिकेट में 6 एशिया कप हुए थे जिन सभी को भारतीय महिलाओं ने जीता था लेकिन इस बार बाजी बांग्लादेश के हाथ लगी और पहली बार एशिया कप जीतने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया.

ये भी पढ़ेंः 7वीं बार Women's Asia Cup खिताब से चूकी टीम इंडिया, बांग्लादेश ने पहली बार कब्जाई ट्रॉफी

इसी कड़ी में अब एक और वर्ल्ड रिकॉर्ड मंगलवार को इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए वनडे मैच में हुआ जब तीन खिलाड़ियों ने शतक जड़ दिए. बता दें कि विमेंस क्रिकेट में ऐसा पहली बार है जब किसी एक वनडे मैच में तीन शतक लगाए गए हों.

मंगलवार को ब्रिगटन में साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच खेले गए दूसरे वनडे में इंग्लैंड ने टेमी ब्यमाउंट के 101 रन और सारा टेलर के 118 रनों के दम पर इंग्लैंड को 332 रनों का लक्ष्य दिया. इसके जवाब में लिजेले ली ने साउथ अफ्रीका की तरफ से 117 रनों की पारी खेली लेकिन टीम को 69रनों से हार का सामना करना पड़ा.

ये भी पढ़ेंःन्यूजीलैंड की विमेंस टीम ने फिर रचा इतिहास, तीसरी बार बनाया वर्ल्ड क्रिकेट का सबसे बड़ा स्कोर

उधर इस मुकाबले में एक अनूठा रिकॉर्ड बन गया जो महिला क्रिकेट टीम में अभी तक नहीं बना. दरअसल, टेमी, टेलर और लिजेले की शतकीय पारियों की वजह से ये मैच सुर्खियों में आ गया क्योंकि यह वो तीन पारियां थीं जो एक विश्व रिकॉर्ड में बदल गईं.

First published: 13 June 2018, 13:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी