Home » क्रिकेट » Afghanistan's cricketer Baheer Shah mahboob breaks sar Don Bradman's First Class cricket batting average record
 

दुनिया को आखिरकार मिल गया नया 'डॉन ब्रैडमैन'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 January 2018, 13:25 IST

क्रिकेट की दुनिया में सर डॉन ब्रेडमैन के नाम जो कीर्तिमान लिखे गए हैं उसके कारण ब्रैडमैन को क्रिकेट में सबसे ज्यादा इज्जत मिलती है. कोई भी खिलाड़ी हो इनके रिकॉर्ड के पीछे नतमस्तक हो जाता है.

दरअसल इसके पीछे की वजह है उनका बल्लेबाजी औसत. अगर फर्स्ट क्लास क्रिकेट के मैचों की बात करें तो उनका बल्लेबाजी औसत 100 के करीब का औसत है. हालांकि, अब एक अफगानिस्तान के युवा बल्लेबाज ने ब्रेडमैन के इस रिकॉर्ड को चुनौती दे डाली है.

किसी भी खेल में कौन सा रिकॉर्ड सुरक्षित है, इसके लिए कोई कुछ नहीं कह सकता. वैसे भी रिकॉर्ड टूटने के लिए ही बनते है. इसको हम एक तरह से चुनौती कह सकते हैं. यही कारण है कि क्रिकेट के ड़ॉन कहे जाने वाले बल्लेबाज सर डॉन ब्रेडमैन के रिकॉर्ड पर भी खतरा मंडरा रहा है. उनके इस एक रिकॉर्ड पर खतरा पैदा करने वाले अफगानिस्तान के युवा बल्लेबाज का नाम है बहीर शाह महबूब.

आपको बता दें फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सर डॉन ब्रेडमैन के नाम प्रति मैच औसत 99.94 का है. इस मामले में युवा अफगानिस्तानी बल्लेबाज ने फिलहाल के लिए ब्रेडमैन को दूसरे नंबर पर धकेल दिया है. क्योंकि बहीर शाह का फर्स्ट क्लास क्रिकेट में औसत 121.77 का है. बहीर को न्यूजीलैंड में 13 जनवरी से शुरू होने जा रहे अंडर-19 विश्व कप खेलने के लिए अफगानिस्तान ने अपनी टीम में जगह दी है.

18 साल के बहीर शाह ने अपने डेब्यू मैच में ही शानदार दोहरा शतक लगाया था. इस मैच में बहीर 256 रन बनाकर नाबाद रहे थे. इसके बाद भी उन्होंने लगातार रन बनाए और पहली छह पारियों में कुल 831 रन बनाए, जो अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड है. बहीर शाह अब तक 121.77 के बेहतरीन औसत से 1000 से ज्यादा रन बना चुके हैं.

 

साथ ही आपको बता दें 256 रनों की नाबाद पारी खेलने जिस मैच में खेली उसके एक मैच बाद ही उन्होंने फिर से दोनों पारियों में शानदार शतक ठोक कर सबका ध्यान अपनी तरफ खींच लिया. यही वजह रही कि अफगानिस्तान ने उनको इस मेहनत का तोहफा देते हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए चुना है. 

इसके अलावा बहीर के नाम पहले ही मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी उनके नाम है लेकिन इस मामले में वह दूसरे नंबर पर हैं. हैरानी की बात तो तब हुई जब बहीर ने अपनी तीसरी ही पारी में तिहरा शतक ठोक दिया था. लिहाजा सबसे कम उम्र में तिहरा शतक ठोकने के मामले में भी वह दूसरे नंबर के बल्लेबाज बन गए. गौरतलब है कि सबसे कम उम्र के तिहरा शतक लगाने के मामले में पाकिस्तान के बल्लेबाज जावेद मियांदाद का नाम पहले स्थान पर है.

First published: 10 January 2018, 13:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी