Home » क्रिकेट » Anil Kumble said Saliva-ban lifted once situation Normal
 

क्या गेंदबाजों के लिए लार के इस्तेमाल पर हमेशा रहेगी रोक, अनिल कुंबले ने दिया ये जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2020, 21:09 IST
Anil Kumble

अनिल कुंबले (Anil Kumble) की अगुवाई वाली अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की क्रिकेट समिति (ICC Cricket Committee) ने हाल ही में कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे को देखते हुए बॉल को चमकाने के लिए लार (Saliva) के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की थी. कोरोनोवायरस के असर के बाद जब क्रिकेट शुरू होगा तो गेंदबाजों को केवल पसीने से गेंद चमकाने के लिए इज्जात होगी.

हालांकि, आईसीसी से इस तरह की मांग हो रही थी कि गेंदबाजों को गेंद चमकाने के लिए किसी चीज के इस्तेमाल की इज्जात दी जाए. हालांकि, अनिल कुंबले वाली समिति ने ऐसी कोई सिफारिश नहीं की और आईसीसी ने समिति की सिफारिशों के बाद जो दिशा निर्देश जारी किए उसमें भी इसका कोई उल्लेख नहीं था. लेकिन आईसीसी ने जो दिशानिर्देश जारी किए हैं उसके अनुसार, अंपायरों को गेंद को संभालने के लिए दस्ताने का उपयोग करने का सुझाव दिया है. वहीं अब अनिल कुंबले ने साफ किया है कि लार से इस्तेमाल पर रोक हमेशा के लिए नहीं है और जब पहले परिस्थिति पहले जैसे हो जाएगी इस प्रतिबंध को वापस ले लिया जाएगा.


अनिल कुंबले ने स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड में बात करते हुए साफ़ किया कि अगर अगले कुछ महीनों या एक साल में कोरोनावायरस को नियंत्रित किया जाता है, तो आईसीसी लार के इस्तेमाल पर प्रतिबंध हटा देंगी. उन्होंने कहा,"यह केवल एक अंतरिम उपाय है और जब तक हम कुछ महीनों या एक साल के समय में COVID-19 पर नियंत्रण करते हैं, तब तक मुझे लगता है कि चीजें फिर से सामान्य हो जाएंगी."

इस बातचीत के दौरान उन्होंने यह भी साफ किया कि समिति ने गेंद पर मोम जैसे बाहरी पदार्थों के उपयोग पर चर्चा की. लेकिन फिर उन्होंने 2018 के न्यूलैंड्स विवाद को याद किया जब खेल के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी कैमरन बैनक्रॉफ्ट की जेब में एक सैंडपेपर पाया गया था. इसके बाद काफी विवाद हुआ था और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia), ने डेविड वार्नर, स्टीव स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट को को प्रतिबंधित करते हुए सख्त कार्रवाई की थी.

अनिल कुंबले ने बताया कि उन्होंने इस घटना और इसके नतीजों पर विचार किया और अंत में निर्णय लिया कि किसी भी बाहरी पदार्थ को गेंद को चमकने की अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा,"अगर आप खेल के इतिहास को देखें, तो मेरा मतलब है कि हम बहुत महत्वपूर्ण हैं और हम खेल में आने वाले किसी भी बाहरी पदार्थ को खेल से बाहर करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं." उन्होंने कहा,"दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज के दौरान जो हुआ उस पर आईसीसी ने फैसला किया, लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इससे भी कड़ा रुख अपनाया इसलिए हमने इस पर भी विचार किया."

किरण रिजिजू ने IPL 2020 को लेकर दिया बड़ा बयान, बीसीसीआई की कोशिशों को लग सकता है झटका

First published: 24 May 2020, 20:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी