Home » क्रिकेट » Armaan returns from injury with 300, with a little help from Sehwag
 

सहवाग ने बदल दी इस खिलाड़ी की ज़िंदगी, तिहरे शतक के साथ किया कमबैक

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 November 2018, 11:45 IST

टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ वसीम जाफर के भतीजे अरमान जाफर ने सीके नायडू ट्रॉफी के अंडर-23 टूर्नामेंट में इतिहास रच दिया है इस दौरान उन्होंने मुंबई की तरफ से खेलते हुए सिर्फ 367 गेंदों में 300 रनों की पारी खेली.अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने 26 चौके और 10 छक्के लगाए. उनकी ये पारी इस वजह से भी ख़ास है क्योंकि उन्होंने जब ये पारी खेली जब मुंबई की टीम मुश्किल में थे.


सौराष्ट्र के खिलाफ अरमान जब बल्लेबाज़ी  करने उतरे तब मुंबई की टीम 12 रन पर ही दो विकेट खो कर संघर्ष कर रही थी. ऐसे में नंबर चार पर बल्लेबाज़ी करने आए अरमान ने अपने करियर की सबसे यादगार पारियों में से एक पारी खेल थी. इस दौरान उन्हें रुद्र धांडे का अच्छा साथ मिला और दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 281 रनों की पार्टनरशिप की. रुद्र ने 166 रन की पारी खेली.

रुद्र के आउट होने के बाद भी अरमान की बल्लेबाज़ी पर कोई ही असर नहीं पड़ा. इसके बाद उन्हें शैम्स मौलानी (87), सिद्धार्थ आकरे (89) का भी अच्छा साथ मिला,  हालांकि एक छोर पर लगातार विकेट गिर रहे थे. वहीं दूसरे छोर पर अरमान रन बना रहे थे.वहीं अरमान के तिहरे शतक के बाद ही मुंबई के कप्तान ने पारी को घोषित कर दी.

आप को बता दें कि अरमान पिछले 14 महीने से चोट की वजह से जूझ रहे थे. ऐसे में अपनी चोट के बाद वापसी को लेकर बात करते हुए उन्होंने कहा कि सहवाग भाई में मेरी बहुत मदद की है. जब मुझे चोट लगी थी तो उन्होंने मुझे NCA भेजा था और खुद ही वहां के अधिकारियों से बात की थी. उनकी इस मदद की वजह से मैं क्रिकेट में वापसी कर पाया हूँ.

First published: 17 November 2018, 11:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी