Home » क्रिकेट » Ashish Nehra says No bigger thing than to retire in your home town,I won't even play the IPl
 

नेहरा ने किया संन्यास का एलान, IPL पर दिया बड़ा बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 October 2017, 18:12 IST

टीम इंडिया के दिग्गज तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने गुरुवार को संन्यास लेने की घोषणा कर दी. नेहरा ने गुरुवार को कहा कि 1 नवंबर को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला जाने वाला T20 मैच उनके करियर का आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच होगा. उन्होंने कहा कि संन्यास लेने का फैसला पूरी तरह उनका था. 

नेहरा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाने वाले तीसरे T20 मैच से पहले प्रेस कान्फ्रेंस में कहा, "मैंने टीम प्रबंधन और चयन समिति से बात कर ली है. न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाला मैच दिल्ली में है. आपको घरेलू दर्शकों के सामने खेल को अलविदा कहने का इससे बेहतर मौका नहीं मिलेगा."

उन्होंने कहा, "जब आपसे लोग संन्यास लेने की कहें उस स्थिति से बेहतर है कि आप तब संन्यास लें जब आपसे कहा जाए कि आप क्यों ऐसा कर रहे हैं. मैं अपने खेल के शीर्ष पर संन्यास लेना चाहता हूं."

38 साल के नेहरा ने कहा, "मेरा मानना है कि भुवी (भुवनेश्वर कुमार) और जसप्रीत (बुमराह) इस समय काफी अच्छा कर रहे हैं और इसी कारण मुझे यह फैसला लेने में मदद मिली." नेहरा इस समय ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही तीन T20 मैचों की सिरीज का हिस्सा हैं. सिरीज इस समय 1-1 से बराबर है और तीसरा मैच निर्णायक होगा. हालांकि नेहरा को अभी तक खेलने का मौका नहीं मिला है. 

गौरतलब है कि नेहरा का करियर चोटों से काफी प्रभावित रहा है. उन्होंने अपने करियर में कुल 12 सर्जरी कराई हैं. नेहरा ने कई बार टीम से बाहर जाने के बाद वापसी की है. 2016 में उनके द्वारा की गई वापसी के बाद से उन्होंने खेल के छोटे फार्मेट में टीम को काफी कुछ दिया.

नेहरा ने कहा कि वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भी नहीं खेलेंगे.  बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने कहा, "नवंबर और आईपीएल के बीच पांच महीनों का अंतर है इसलिए मैं आईपीएल में भी खेल सकता था, लेकिन मैं सिर्फ अपने देश के लिए खेलने के लिए अभ्यास करता हूं. मैं एक बार जब इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले रहा हूं तो मैं आईपीएल में भी नहीं खेलूंगा."

चोटों से वापसी करते हुए ही उन्होंने 2011 विश्व कप टीम में जगह बनाई थी और टीम को विजेता बनाने में रोल निभाया था. वह पिछले साल T20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा थे.

नेहरा ने 1999 में दिसंबर में श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था. हालांकि वह टेस्ट क्रिकेट ज्यादा नहीं खेल पाए. उनके खाते में सिर्फ 17 टेस्ट मैच हैं जिसमें उन्होंने 44 विकेट लिए हैं. उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच रावलपिंडी में पाकिस्तान के खिलाफ 2004 में खेला था.

वनडे में नेहरा ने भारत के लिए 120 मैच खेले हैं और 157 विकेट लिए हैं. जिम्बाब्वे के खिलाफ 2001 में हरारे में अपना पहला मैच खेलने वाले नेहरा ने अपना आखिरी वनडे 2011 विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ 30 मार्च को खेला था.

नेहरा को 2003 विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए मैच में छह विकेट लेने के लिए जाना जाता है. इस मैच में उन्होंने इंग्लैंड की कमर तोड़ दी थी और भारत को जीत दिलाई थी. इस विश्व कप में नेहरा, जहीर खान और जवागल श्रीनाथ की तिगड़ी ने भारत को फाइनल में पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की थी.

First published: 12 October 2017, 18:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी