Home » क्रिकेट » Australia: Andrew Symonds reveals how monkeygate led to his alcohol problem end of his cricket career
 

'मंकीगेट विवाद को याद कर भावुक हुए साइमंड्स, कहा- इस घटना ने मेरा करियर समाप्त कर दिया

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2018, 16:57 IST
(file photo )

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व आल राउंडर खिलाड़ी एंड्रयू साइमंड्स ने भारत के खिलाफ 2008 में घरेलू श्रृंखला के दौरान हुए ‘मंकीगेट’ प्रकरण को लेकर एक बार फिर से बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि इस विवाद ने उनका क्रिकेट करियर समाप्त कर दिया था. इस विवाद के बाद वह शराब पीने लगे.

बता दें कि साल 2008 में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था. ये दौरा ‘मंकीगेट’प्रकरण को लेकर काफी चर्चा में रहा था. इस दौरे पर साइमंड्स ने हरभजन सिंह पर आरोप लगाया था कि भज्जी ने उनको बंदर कहा है. वहीं भज्जी ने इस आरोप से इनकार कर दिया था.

मीडिया खबरों के मुताबिक, एंड्रयू साइमंड्स ने मंकीगेट प्रकरण को लेकर बात करते हुए कहा है कि उस घटना की वजह से उनका करियर प्रभावित हुआ. इसके बाद मेरे करियर गिरने लगा. मैंने शराब पीना शुरू कर दिया. मैं दबाव महसूस करने लगा. मुझे लगने लगा कि मैंने अपने साथी खिलाड़ियों को इस विवाद में फंसा दिया है. मैं इसका सामना गलत तरीके से कर रहा था. मैं खुद को दोषी समझने लगा था. मुझे लगने लगा था कि मैंने अपने साथी खिलाडि़यों को इसमें फंसा दिया. जबकि वे इसमें शामिल होने के हकदार नहीं थे. साइमंड्स ने ये बातें आस्ट्रेलियन ब्राडकास्टिंग कारपोरेशन से करते हुए कहीं.

साइमंड्स ने कहा कि मैंने इस सिरीज से पहले इसको लेकर हरभजन सिंह से बात की थी. उसने मुझे पहले भी बंदर कहा था. जिसको लेकर मैं भारतीय ड्रेसिंग रूम गया था. मैंने वहां जाकर कहा कि क्या मैं एक मिनट के लिए भज्जी से बात कर सकता हूं. वह बाहर आया और मैंने कहा कि देखो, इस तरह के नाम से पुकारना बंद होना चाहिए वर्ना यह चीज हाथ से बाहर निकल जायेगी.

आपको बता दें कि एंड्रयू साइमंड्स ने ऑस्ट्रेलिया के लिए आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच मई 2009 में खेला था. इसके एक महीने बाद उनको नियम तोड़ने के कारण टी20 विश्व कप से बाहर कर दिया गया था. उनको स्वदेश भेज दिया गया. इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उनका करार समाप्त कर दिया.

ये भी पढ़ें- आज ही के दिन रोहित बने थे 'हिटमैन', छक्कों की बारिश करके उधेड़ी थी ऑस्ट्रेलिया की बखिया

First published: 2 November 2018, 16:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी