Home » क्रिकेट » Babar Azam Told His Struggle Story walking 3 miles to reach Gaddafi stadium to work as ball-boy
 

बाबर आजम ने सुनाई अपने संघर्ष की कहानी, बताया- स्टेडियम पहुंचने के लिए चलते थे 3 मील पैदल

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 January 2020, 11:37 IST

पाकिस्तान की क्रिकेट टीम(Pakistan Cricket Team) ने बीते दशक में अगर विश्व को कोई अच्छा खिलाड़ी दिया है तो वो हैं बाबर आजम(Babar Azam). इस खिलाड़ी ने पहले विश्व कप के 12वें संस्करण(World Cup 2019) में काफी अच्छे रन बनाए थे. बाबर आजम को पाकिस्तान के कई पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों ने बाबर आजम को पाकिस्तान का विराट कोहली(Virat Kohli) बताया है. बीते साल बोर्ड ने जब सरफराज अहमद(Sarfaraz Ahmed) से कप्तानी छीनी तो उनकी जगह बाबर आजम को टी20 टीम का कप्तान बनाया.

कप्तान बनने के बाद जब बाबर आजम ने टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया का दौरा(Pakistan Tour Australia 2019) किया तो वहां पर उनकी बल्लेबाजी और निखर कर आई. बाबर आजम ने पहले ब्रिसबेन में शतक जड़ा फिर उसके बाद उन्होंने एडिलेड में 97 रनों की पारी खेली थी. बाबर आजम की पारियां ऐसे समय आई थी जब कोई भी पाकिस्तानी बल्लेबाज ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी का आक्रमण करने में सफल नहीं हो पा रहा था.

वहीं अब बाबर आजम ने पहली बार मीडिया को अपने संघर्ष की कहानी बताई है. pcb.com.pk से बात करते हुए बाबर आजम ने बताया है कि कैसे वो तीन मील पैदल चलकर स्टेडियम पहुंचते थे और वो वहां पर प्रैक्टिस करने नहीं बल्कि बॉल ब्वॉय के रूप में काम करने के लिए आते थे.

बाबर आजम ने कहा,'यह कल की तरह लगता है जब मैं साल 2007 में दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के बीच गद्दाफी स्टेडियम में पहुंचने में हुए दूसरे टेस्ट मुकाबले में बॉल-बॉय के रूप में काम करने के लिए लगभग तीन मील की दूरी पर चल कर तय कतरा था. उन्होंने आगे कह, “यह खेल के लिए प्यार था और इंजमाम-उल-हक, यूनिस खान, मोहम्मद यूसुफ, मिस्बाह-उल-हक, ग्रीम स्मिथ, हाशिम अमला, जैक्स कैलिस और डेल स्टेन जैसे खिलाड़ियों के प्रति उनका लगाव ही था कि वह बिना कोई परवाह किए पाकिस्तान क्रिकेट के घर में आ जाते थे.'

IND vs NZ 1st T20: मैच से पहले मस्ती करते दिखे रोहित शर्मा, ये रिकॉर्ड कर सकते हैं अपने नाम

First published: 24 January 2020, 11:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी