Home » क्रिकेट » BCCI ACU 225-crore bets on a Tamil Nadu T20 game
 

इस मैच पर लगा था 225 करोड़ का सट्टा, BCCI कर रही हैं जांच-रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 December 2019, 16:26 IST

आईपीएल(IPL) की तर्ज पर शुरू हुए कर्नाटक प्रीमियर लीग(Karnataka Premier League) इस बार मैच फिक्सिंग के आरोपों के कारण विवादों मे है. इस मामले में पुलिस अभी तक 8 से अधिक लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. खबरों के मुताबिक इस बार हुए कर्नाटक प्रीमियर लीग के फाइनल मुकाबले में कथित तौर पर मैच फिक्सिंग हुई थी. वहीं अब तमिलनाडु प्रीमियर लीग(Tamil Nadu Premier League) पर भी सट्टेबाजी के बादल मंडराने लगे है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, इस साल हुए तमिलनाडु प्रीमियर लीग में टूटी पैट्रियट्स(Tuti Patriots) और मदुरई पैंथर्स(Madurai Panthers) के बीच हुए मुकाबले के दौरान इंटरनेशनल साइट बैटफेयर(Betfair) पर करीब 24 मिलियन पाउंड यानि 225 करोड़ रुपये का सट्टा लगा था. हालांकि अभी अस बारे में बीसीसीआई के एंटी करप्शन यूनिट(BCCI Anti Corruption Unit) के चीफ अजीत सिंह ने कुछ भी नहीं बोला है. रिपोर्ट में दावा किया गया हैं कि बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट ने इस मामले में एक रिपोर्ट बीसीसीआई को सैंपी है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि बेटफेयर भारत की घरेलू क्रिकेट लीग में इतने बड़े पैमाने पर सट्टेबाजी होने के कारण इतना परेशान हो गया था कि उसने टुटी पैट्रियट्स से जुड़े किसी भी मैच पर दांव लगाना बंद कर दिया. एसीयू की रिपोर्ट उन दो शोध कंपनियों के आधार पर आई हैं जो दुनिया भर में किसी भी टी20 लीग के दौरान हर टीम पर नजर रखती हैं और इस दौरान आसानी से ना पचने वाली घटनाओं पर नजर रखती है.

खबर के मुताबकि, जांच से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि सट्टेबाजों और मैच फिक्सरों टीम के मालिक के साथ एक गैरकानूनी सौदे के जरिए फ्रैंचाइज़ी पर नियंत्रण लेने के बाद,'टीम को इस तरह से चला रहे थे कि वे सट्टेबाजी में जीत हासिल कर सकें."

गौरतलब हो, बीते दिनों ही बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस बात का ऐलान किया था कि तमिलनाडु प्रीमियर लीग की दो फ्रेंचाइजी को निलंबित कर दिया गया हैं. हालांकि, बाद में तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारी ने गांगुली की बात को गलत बताते हुए कहा कि किसी भी फ्रेंचाइजी को निलंबित नहीं किया गया है. लेकिन आंतरिक जांच समिति की सलाह पर टुटी पैट्रियट्स के दो सह मालिकों को बाहर का रास्ता दिखाया जा चुका है.

तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन में अनियमित्ताओं का यह पहला मामला नहीं हैं. इसी साल सितंबर महीने में मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया था कि एक भारतीय खिलाड़ी, एक आईपीएल खिलाड़ी और एक रणजी ट्रॉफी कोच बीसीसीआई की एसीयू द्वारा आंतरिक जांच में शामिल थे, जो टीएनपीएल में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार पाए गए थे.

बीसीसीआई अध्यक्ष गांगुली ने हाल में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के दौरान बुकी ने कम से कम एक खिलाड़ी को मैच फिक्सिंग के लिए संपर्क किया था. उन्होंने आगे कहा,'फिलहाल कर्नाटक प्रीमियर लीग को होल्ड पर रखा गया है, जिसमें पुलिस अभी तक कई खिलाड़ियों की गिरफ्तार कर चुकी है. टी20 लीग्स में भष्ट्राचार ने पिछले साल भर से एंटी करप्‍शन यूनिट को व्यस्त कर रखा है. लीग्स में भष्ट्राचार जारी रहता है तो एंटी करप्‍शन यूनिट को मजबूत करना होगा और मौजूदा सेट अप का मूल्याकंन अगले साल किया जाएगा.'

के एल राहुल काट सकते हैं शिखर धवन का पत्ता, आंकड़े दे रहे गवाही

First published: 7 December 2019, 16:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी