Home » क्रिकेट » BCCI AGM: Key decisions taken during the AGM
 

BCCI AGM: साल 2022 आईपीएल में 10 टीमें, सरकार के साथ टैक्स में छूट पाने के लिए बातचीत समेत लिए गए यह अहम फैसले

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 December 2020, 22:38 IST
BCCI (BCCI)

गुरूवार को अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में बीसीसीआई की 89वीं एनुअल जनरल मीटिंग हुई. इस मीटिंग में कई अहम फैसले लिए गए, जिसमें साल 2022 में आईपीएल में 10 टीमों के शामिल होने से लेकर साल 2028 में होने वाले ओलपिंक खेलों में क्रिकेट की शामिल करने के आईसीसी के फैसले का समर्थन करना शामिल है. साथ ही इस मीटिंग में फैसला लिया गया कि कोरोना वायरस के कारण हुए नुकसान को देखते हुए फर्स्ट क्लास क्रिकेटर (महिला-पुरुष) को मुआवजा मिलेगा.

इस मीटिंग में फैसला लिया गया कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला होंगे. बीसीसीआई की तरफ से गुरूवार देर शाम मीटिंग में लिए गए अहल फैसलों की जानकारी को लेकर प्रेस रिलीज जारी की गई है और उसमें मीटिंग में लिए गए अहम फैसलों के बारे में बताया गया है.


मीटिंग में लिए गए अहम फैसले

बीसीसीआई की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में बताया गया है कि निर्वाचन अधिकारी, एके जोती ने राजीव शुक्ला को बीसीसीआई के उपाध्यक्ष के रूप में निर्वाचित करने की घोषणा की है. इसके अलावा, बृजेश पटेल और केएम मजूमदार को सर्वसम्मति से जनरल बॉडी द्वारा आईपीएल गवर्निंग काउंसिल के सदस्य प्रतिनिधि के रूप में फिर से चुना गया है.

प्रज्ञान ओझा, जिन्हें भारतीय क्रिकेटर्स एसोसिएशन (ICA) द्वारा एक खिलाड़ी प्रतिनिधि के रूप में नामित किया गया था, उन्हें AGM में IPL गवर्निंग काउंसिल में शामिल किया गया.

आईपीएल में दस टीमों को शामिल करने के लिए आईपीएल गवर्निंग काउंसिल को अधिकृत किया गया. 10 टीमों के आईपीएल गवर्निंग काउंसिल 10 टीमों के मैचों के शेड्यूलिंग का काम देखेगा.

इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी से क्लेरीफिकेशन के बाद 2028 ओलिंपिक में क्रिकेट को शामिल करने के ICC के फैसले का समर्थन करेगा.

बीसीसीआई ने सेवानिवृत्त प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों के क्रिकेटर्स का इंश्योरेंस कवर बढ़ाकर 10 लाख कर दिया है.

BCCI से जुड़े अंपायर और स्कोरर की सेवानिवृत्ति की आयु भी बढ़ाकर 60 वर्ष कर दी गई है.

इस मीटिंग में इस बात पर भी चर्चा की गई कि अगले साल से भारतीय महिला क्रिकेट टीम टेस्ट मैच खेलेगी. हालांकि, इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है और बोर्ड की अपेक्स काउंसिल इस पर आखिरी फैसला लेगी.

इस मीटिंग में साल 2021 में होने वाले टी20 विश्व कप के वेन्यू को लेकर भी चर्चा करके उस पर मुहर लगाई गई.

इस मीटिंग में फैसला लिया गया कि सौरव गांगुली ICC बोर्ड में डायरेक्टर बने रहेंगे और उनकी गैरमौजूदगी में बोर्ड के सेक्रेटरी यह कार्यभार संभालेंगे. इसके साथ ही जय शाह आईसीसी की चीफ एग्जीक्यूटिव मीटिंग में भारत को रिप्रेजेंटे करेंगे.

इस मीटिंग में फैसला लिय़ा गया कि जनवरी में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी-20 चैम्पियनशिप के बाद सभी घरेलू टूर्नामेंट्स कराए जाएंगे.

कुछ मीडिया रिपोर्ट की मानें तो बोर्ड के सेक्रेटरी जय शाह और कोषाध्यक्ष अरुण धूमल केंद्र सरकार से आईसीसी टी-20 विश्व कप 2021 और साल 2023 में होने वाले विश्व कप को लेकर टैक्स में छूट मिले, इसके लेकर बातचीत करेंगे. अगर बोर्ड को टैक्स में छूट नहीं मिलती है तो उसे करोड़ों का नुकसान हो सकता है. एक अनुमान के तौर पर बोर्ड को अगर टी20 विश्व कप के लिए टैक्स में छूट नहीं मिली तो उसे 904 करोड़ रुपए का नुकसान होगा.

सुनील गावस्कर ने टीम इंडिया के मैनेजमेंट पर लगाए गंभीर आरोप, कहा- टी नटराजन के साथ किया भेदभाव, नहीं विश्वास तो पूछें अश्विन से..

First published: 24 December 2020, 22:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी