Home » क्रिकेट » BCCI could Eliminate toss, DRS for Televised in Ranji trophy
 

भारत में मैचों में अब नहीं होगा टॉस? हो सकते हैं बड़े बदलाव

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 May 2019, 8:34 IST

रणजी ट्राफी में भी अंतरराष्ट्रीय मैचों की तरह ही डीआरएस सिस्टम लागू किया जाए, साथ ही घरेलू मैचों में सिक्का उछाल कर टॉस करने की पंरपरा को पूरी तरह से खत्म कर दिया जाए, यह कुछ महत्वपूर्ण सुझाव थे जो रणजी ट्राफी कानक्लेव के दौरान सामने आए.

बता दें, डीआरएस अभी तक अंतरराष्ट्रीय मैचों तक ही सीमित है जिसे अब रणजी में भी लाने को विचार किया जा रहा है. दरअसल, रणजी के बीते सीजन में सौराष्ट्र और कर्नाटक के बीच हुए मैच में चेतेश्वर पुजारा को आउट होने के बाद भी अंपायर ने आउट नहीं दिया था. वहीं पूरे सीजन में काफी खराब अंपायरिंग देखेने को मिली थी.

इसके साथ ही इस सम्मेलन में सिक्का उछाल कर टॉस करने की पंरपरा को भी  खत्म करने की बात कही गई. ऐसा नहीं है कि इस सम्मेलन में टॉस खत्म करने की बात कोई नई हो इससे पहले भी अंतरराष्ट्रीय मैचों के दौरान टॉस खत्म करने मेहमान टीम को बल्लेबाजी या गेंदबाजी का फैसला लेने की छूट की बात कही गई थी. इस सम्मेलन में भी इस बात को उठाया गया. सम्मेलन में आए सुझाव दिए कि रणजी मैचों में टॉस को खत्म किया जाए और मेहमान टीम पर यह फैसला छोड़ा जाए कि वो गेंदबाजी चुनती है या फिर बल्लेबाजी.

First published: 18 May 2019, 8:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी