Home » क्रिकेट » before ipl auctionin in syed mushtaq ali t20 tournament yuvraj singh performance was very bad
 

IPL Auction 2018: नीलामी से पहले युवराज सिंह ने ऐसे मारी थी अपने पैर पर कुल्हाड़ी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2018, 15:13 IST

आइपीएल 11 के लिए बेंगलुरु में आइपीएल की नीलामी शुरू हो चुकी है. एक तरफ जहां युवराज सिंह को उनकी बेस प्राइस से एक रुपए ज्यादा नहीं मिला वहीं मनीष पांडे और केएल राहुल को 11-11 करोड़ में खरीदा गया. ऐसा क्या कारण था कि युवराज को उनके बेस प्राइस से एक रुपए ज्यादा भी पैसा नहीं मिला और उन्हें उनके बेस प्राइस 2 करोड़ रुपए में ही खरीदा गया?

युवराज सिंह को 2 करोड़ रुपए में किंग्स इलेवन ने खरीदा. युवराज का बेस प्राइस 2 करोड़ रुपए था और उनके लिए ज्यादा बोली नहीं लगी. सनराइजर्स ने भी उनके लिए आरटीएम कार्ड का उपयोग नहीं किया.

साल 2007 के टी-20 वर्ल्डकप में इंग्लैंड के खिलाफ 6 गेंदों में 6 छक्के मारकर गेंदबाजों के मन में डर पैदा करने वाले युवराज सिंह ने आईपीएल की नीलामी से पहले ही अपने पैर पर कुल्हाड़ी मार ली थी. उन्होंने आईपीएल नीलामी से पहले मिला एक बड़ा मौका अपने हाथ से निकाल दिया था.

 

दरअसल आईपीएल नीलामी से पहले हुए सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में वह कोई भी कमाल करने से चूक गए थे. इसका नुकसान उन्हें आईपीएल की नीलामी में उठाना पड़ा.

सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट में युवराज सिंह ने 96 के स्ट्राइक रेट से 216 गेंद में महज 208 रन बनाए, जिसमें नाबाद 50 (40 गेंद), नाबाद 35 ( 35 गेंद), 8 ( 16 गेंद), 4 ( 8 गेंद), 21 ( 14 गेंद), 29 ( 25 गेंद), 40 ( 34 गेंद), 17 ( 33 गेंद) और 4 ( 11 गेंद) रन की पारियां शामिल हैं. इसी कारण बेंगलुरू में हो रही आईपीएल की नीलामी में ज्यादातर फ्रैंचाइजी उन पर दांव लगाने से कतराते रहे.

इसके अलावा उनका आईपीएल इतिहास भी कुछ खास नहीं रहा है. युवी आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स, रॉयल चैलेंजर्स बेगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल चुके हैं. वह न सिर्फ अपने खराब फॉर्म से ही टीम के लिए चिंता का सबब रहें बल्कि उनकी फिटनेस भी एक बड़ी परेशानी बनकर सामने आई है.

First published: 27 January 2018, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी