Home » क्रिकेट » Birthday special: team India former cricketer raman lamba lost his life after a ball hits on his head
 

बर्थडे स्पेशल: इस भारतीय क्रिकेटर की जिंदगी एक तेज़़ शॉट ने ली थी

हेमराज सिंह चौहान | Updated on: 2 January 2018, 17:44 IST

आज एक ऐसे भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी का जन्मदिन है जिसकी मौत मैदान में लगी एक गंभीर चोट की वजह से हुई. टीम इंडिया के इस पूर्व क्रिकेटर की आज 57 वीं जयंती है. रमन लांबा का जन्म आज ही के दिन उत्तर प्रदेश के मेरठ में साल 1960 हुआ था.

20 फरवरी 1998 को जब ये खिलाड़ी मेदान में उतरा तो शायद उसे भी नहीं पता था कि ये मैदान पर उसका आखिरी दिन है. इसके बाद वो कभी क्रिकेट के मैदान में नहीं उतर पाएगा. इस मैच में इस खिलाड़ी को एसी गंभीर चोट आई कि कुछ दिनों हॉस्पटिल में बिताने के बाद ये खिलाड़ी मौत के मुंह में चला गया. रमन लाम्बा की इस तरह से मौत की कल्पना शायद ही किसी ने की थी. उनकी मौत पर हर क्रिकेट के दीवाने की आंखो में आंसू थे.  

 रमन लांबा के सिर पर लगी गंभीर चोट

रमन लाम्बा 20 फरवरी, 1998 को ढाका में बांग्लादेश के क्रिकेट क्लब अबाहानी क्रीड़ा चक्र के लिए खेल रहे थे. अबाहानी क्रीड़ा चक्र का मैच मोहम्मडन स्पोर्टिग के साथ था. रमन लांबी अबाहानी क्रीड़ा चक्र की तरफ से मैदान में फील्डिंग कर रहे थे. रमन लाम्बा को शॉर्ट लेग पर लगाया था. रमन लांबा से कप्तान ने हेलमेट पहनने को कहा. लेकिन लांबा ने ये कहते हुए मना कर दिया कि तीन बॉल बची हैं. वो एसे ही फिल्डिंग कर लेंगे. 

रमन लांबा को शायद एहसास नहीं था कि वो क्या गलती करने जा रहे है. वो अपनी पॉजीशन में दोबारा तैनात हो गए. सैफुल्लाह खान के इस ओवर का सामना करने के लिए विपक्षी टीम के बल्लेबाज मेहराब हुसैन खड़े थे. सैफुल्लाह ने शॉर्ट डिलीवरी डाली, जिस पर मेहराब ने करारा शाॉट जड़ा.

मेहराब का ये करार शॉट शॉर्ट लेग पर खड़े रमन लांबा की तरफ गया. रमन लांबा जब तक कुछ समझ पाते ये शॉट सीेधे उनके सिर पर लगा. रमन लांबा घायल होकर जमीन पर गिर गए. सभी खिलाड़ी उनकी तरफ भागे. इसके बाद लांबा अपने पैरों में खड़े हुए और इंजर्ड होकर मैदान से बाहर चले गए. सबको लगा कि ये नॉर्मल चोट है.

पवेलियन में रमन लांबा की तबीयत अचानक खराब हुई और उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया. तीन दिन तक वो अस्पताल में मौत से जूझते रहे और आखिरकार उन्हें तीन दिन बाद 23 फरवरी 2018 को दम तोड़ दिया. रमन ने आयरलैंड की रहने वाली महिला किम से शादी की थी.

जिस दिन रमन लांबा की मौत हुई किम उन्हें लेने के लिए एयरपोर्ट पर पहुंची थी. तभी उन्हें बांग्लादेश से एक कॉल आया कि रमन की मौत हो चुकी है. उस वक्त किम इंडिया में ही थीं. रमन को उनकी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए जाना जाता था.

रमन लांबा का क्रिकेट करियर

लांबा ने भारत के लिए कुल 32 एकदिवसीय मैच खेले. इन मैचों में लांबा ने 27 की औसत से 783 रन बनाए, जिसमें एक शतक और छह अर्धशतक शामिल हैं. लेकिन भारत की तरफ से खेलते हुए लांबा कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए. इस वजह से वो टीम से बाहर हो गए.

लांबा ने टीम इंडिया की तरफ से चार टेस्ट मैच खेले और महज 102 रन बनाए. भारत में क्रिकेट के बाद लाम्बा ने बांग्लादेश और आयरलैंड में क्लब क्रिकेट भी खेली. गौरतलब है कि घरेलू क्रिकेट में लाम्बा के नाम 121 प्रथम श्रेणी मैचों में कुल 8776 रन दर्ज हैं.

लाम्बा के नाम दलीप ट्रॉफी में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड भी दर्ज है. उन्होंने 21 अक्टूबर, 1987 को पश्चिम क्षेत्र के खिलाफ उत्तरी क्षेत्र की ओर से 320 रनों की पारी खेली थी. इस रिकॉर्ड को आज तक कोई नहीं तोड़ पाया है.

First published: 2 January 2018, 17:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी