Home » क्रिकेट » challenges for team india captain Virat Kohli overcome England tour Playing XI biggest headache for virat before 1st T20
 

इंग्लैंड टूर पर इन 'विराट' चुनौतियों से कैसे पार पाएंगे कोहली, प्लेइंग इलेवन है सबसे बड़ी सिरदर्दी

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 July 2018, 10:22 IST
(File Photo)

टीम इंडिया का इंग्लैंड टूर आज (मंगलवार) से शुरू होने वाला है. इस टूर पर टीम इंडिया को करीब ढाई महीने रहना है जबकि यहां उसे 3 T20 3 वनडे और 5 टेस्ट मैचों की सिरीज खेलनी है. इसके दौरे का पहला T20 मैच आज रात 10 बजे से खेला जाएगा, जबकि आखिरी टेस्ट मैच 11 सिंतबर तक खेला जाना है.

इस दौरे पर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के सामने एक दो नहीं बल्कि ढेर सारी चुनौतियां जिनसे उनको निपटना है. सबसे पहले तो टीम इंडिया को इंग्लैंड की परिस्थितियों से रूबरू होना होगा क्योंकि यहां अगले साल वर्ल्डकप होना है. ये दौरा भी टीम इंडिया की तैयारियों के लिए हैं.

इस बीच कोहली सामने जो विराट चुनौतियां हैं वो कुछ इस प्रकार है. सबसे पहले तो विराट को आयरलैंड से मिली एकतरफ जीत को भूलना होगा. इसके साथ टीम इंडिया के कैप्टन के लिए सबसे बड़ी चुनौती ये है कि किस बल्लेबाज से ओपनिंग कराई जाए.

ये भी पढ़ेंः Eng vs Ind: मैच देखने से पहले जान लें कोहली की 'विराट' सेना किस तरह से है तैयार

बता दें कि रोहित शर्मा और शिखर धवन ने आयरलैंड के खिलाफ पहले मैच में अपनी छाप छोड़ी तो वहीं दूसरे मैच में केएल राहुल ने धमाकेदार अर्धशतक लगाकर ओपनिंग के लिए दावेदारी पेश कर दी. ऐसे में विराट को इन तीन खिलाड़ियों में से किन्हीं दो को चुनने के लिए दिमाग लगाना पड़ेगा.

वहीं, अगर विपक्षी टीम की बात करें तो इंग्लैंड ने पिछले 6 मुकाबलों में ऑस्ट्रेलिया को मात दी है, जिससे उसके हौसले बुलंद हैं. हालांकि टीम इंडिया ने पिछले 20 T20 मुकाबलों में 15 मैचों में जीत हासिल की है लेकिन इंग्लैंड की सरजमीं होने के हिसाब से इंग्लैंड का पलड़ा भारी होगा. इसके लिए भी विराट सेना को मेहनत करनी होगी.

ये भी पढ़ेंः विराट सेना के इंग्लैंड टूर से पहले इंडिया ए ने इंग्लैंड से छीनी ट्रॉफी  

इसके साथ-साथ सबसे बड़ी चुनौती डेथ ओवर्स में गेंदबाजी को लेकर होगी क्योंकि टीम इंडिया के डेथ ओवर स्पेशलिस्ट जसप्रीत बुमराह चोट के चलते टीम से बाहर हैं. इसके अलावा विराट खुद टीम की प्लेइंग को सिरदर्दी बता चुके हैं. लेकिन इन सबके बीच टीम को एकजुट होकर मैदान में फतेह हासिल करनी होगी.

First published: 3 July 2018, 10:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी