Home » क्रिकेट » Cricket: Mithali Raj became able to hit maximum runs because of Sachin Tendulkar's Bat
 

खुलासाः सचिन तेंदुलकर का बल्ला है इस महिला क्रिकेटर के सबसे ज्यादा रन बनाने की वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2017, 20:46 IST

केवल ऐसा ही नहीं था कि मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एक ही बल्ले से रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया. अपने 24 साल के क्रिकेट करियर में सचिन तेंदुलकर ने तमाम बल्लों का इस्तेमाल किया. लेकिन सचिन का हाथ ही नहीं उनका बल्ला भी रनों का भूखा रहता था. यह खुलासा किया है महिला क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाली क्रिकेटर मिताली राज का.

दरअसल महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली बल्लेबाज का रिकॉर्ड मिताली राज के नाम है. इसकी प्रमुख वजह उनकी कड़ी मेहनत, रनों की भूख के अलावा सचिन तेंदुलकर का 'बल्ला' भी है.

सर्वाधिक रन बनाने वाली मिताली रात के इस लंबे सफर में 'क्रिकेट के भगवान' सचिन तेंदुलकर के बल्ले की अहम भूमिका है. इसके साथ ही मिताली को लगातार खेलने के लिए प्रेरित करने के सचिन के शब्दों का भी. एक बार सचिन तेंदुलकर ने अपना एक बल्ला मिताली को तोहफे में दिया था और मिताली ने इस बल्ले से जमकर रन ठोंके. मिताली के पास अभी भी वह बल्ला है. मिताली कहती हैं कि सचिन को उन्हें अभी एक और बल्ला तोहफे में देना बाकी है.

सचिन और मिताली बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी में अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस (11 अक्टूबर) के मौके पर यूनिसेफ द्वारा आयोजित कार्यक्रम 'बालिका सशक्तिकरण में खेलों की अहमियत' में पहुंचे थे. इस दौरान मिताली ने इस राज को पहली बार दुनिया के सामने उजागर किया.

मिताली ने कहा, "ऐसा भी मौका आया था जब सचिन ने मुझे अपना बल्ला तोहफे में दिया था. मैंने उस बल्ले से काफी रन बनाए. वो बल्ला अभी भी मेरे पास है. सचिन को अभी मुझे एक और बल्ला देना है."

सचिन ने तुरंत कहा, "मैं चाहता था कि ये न रुकें इसलिए बल्ला तोहफे में दिया. मैं बल्ला लेकर आया हूं और आपको दूंगा. 2021 (अगला आईसीसी महिला विश्व कप) ज्यादा दूर नहीं है."

मिताली जब विश्व कप के बाद भारत लौटी थीं तब उनसे सभी ने सवाल किया था कि क्या वह चार साल बाद विश्व कप में खेलेंगी? इस सवाल का जवाब देते हुए मिताली ने कहा था कि वह जब तक फिट हैं तब तक खेलेंगी.

लेकिन मिताली ने इस कार्यक्रम में अपने अगले विश्व कप में खेलने की संभावनाओं को जिंदा रखने की असल वजह बताई और कहा कि वह सचिन के कारण ही वो अगले विश्व कप की दौड़ में शामिल हैं.

मिताली ने कहा, "जब मैंने 6,000 रन पूरे किए थे तब सचिन सर ने मुझे बधाई दी थी और कुछ ऐसा कहा जो मुझे अभी तक याद है और हमेशा मेरे साथ रहेगा. सचिन ने कहा था कि हार नहीं मानना. अगर तुम्हें लगता है कि तुम कुछ और साल खेल सकती हो तो खेलना. जब मैं विश्व कप खेल कर लौटी तो मुझे सवाल किए गए कि क्या मैं अगला विश्व कप खेलूंगी या नहीं, इस सवाल को सुनकर मुझे सचिन सर की बात याद आ गई थी."

मिताली ने कहा कि आईसीसी महिला विश्व कप फाइनल से पहले उन्होंने सचिन से टीम को प्रेरित करने की दरख्वास्त की थी जिसे इस महान बल्लेबाज ने मान लिया था.

मिताली ने कहा, "जब हम फाइनल में पहुंचे तो मैंने सचिन सर से कहा कि आप टीम के साथ कुछ वक्त बिताएं और उन्हें प्रोत्साहन दें क्योंकि आपके पास काफी अनुभव है. इन्होंने मेरे उस प्रस्ताव को मान लिया."

सचिन विश्व क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं वहीं मिताली उन्हीं के रास्ते पर चल रहीं हैं और महिला क्रिकेट में रनों के मामले में सबसे आगे हैं?

First published: 11 October 2017, 20:46 IST
 
अगली कहानी