Home » क्रिकेट » Cricketer Harbhajan Singh slams ICC decision in Steve Smith and David Warner ball tampering row
 

बॉल टैंपरिग पर भज्जी बोले- 'वाह ICC वाह' हम पर 6 मैचों का बैन और उन पर...

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 March 2018, 13:10 IST

केपटाउन टेस्ट में आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम द्वारा की गई बॉल टैंपरिंग के मामले में आईसीसी ने कैमरन बेनक्रॉफ्ट पर मैच फीस का सिर्फ 75 प्रतिशत जुर्माने की सजा सुनाई है. आईसीसी की सुनाई गई इस सजा की भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह ने कड़ी निंदा की है.

भज्जी ने इस मामले को लेकर एक ट्वीट किया जिसमें आईसीसी को कम सजा के लिए आड़े हाथों लिया और अपने ऊपर लगाया गया बैन भी याद दिलाया. बॉल टैंपरिंग की इस घटना ने पूरे क्रिकेट जगत में हलचल मचा दी है, चारों तरफ ऑस्ट्रेलिया टीम की जमकर आलोचना की जा रही है. यहां तक कि ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल ने भी इस घटना को शर्मसार बताया है.

इस घटना में क्रिकेट जगत में टर्बनेटर के नाम से मशहूर हरभजन सिंह ने कहा कि वाह आईसीसी, बैन्क्रॉफ्ट के खिलाफ साफ तौर पर सबूत मिलने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की और हमने 2001 के साउथ अफ़्रीकी दौरे पर अत्यधिक अपील की थी और छह खिलाड़ियों पर बैन लगाया गया था.

ये भी पढ़ें- क्या स्मिथ और वार्नर खेलेंगे IPL 2018, राजीव शुक्ला ने कही ये बात

इसके अलावा भज्जी ने 2008 के सिडनी टेस्ट पर कहा कि वहां मेरे खिलाफ सबूत नहीं होने के बाद भी 3 मैचों का बैन लगाया गया था. अलग लोगों के लिए अलग नियम होते हैं. बता दें कि हरभजन ने ट्वीट किया ,‘‘ वाह आईसीसी वाह’’  फेयरप्ले  बेनक्रोफ्ट पर कोई प्रतिबंध नहीं जबकि सारे सबूत थे.

 वहीं 2001 में दक्षिण अफ्रीका में जोरदार अपील करने के कारण हम छह पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और वह भी बिना सबूत के और सिडनी 2008 तो याद होगा. दोषी साबित नहीं होने पर भी तीन टेस्ट का प्रतिबंध.अलग अलग लोग अलग अलग नियम.’’  इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वान ने कहा ,‘‘ एक मैच का प्रतिबंध और मैच फीस का शत प्रतिशत जुर्माना स्मिथ के लिए. बेनक्रोफ्ट पर 75 प्रतिशत जुर्माना और डिमेरिट अंक. यह समय मिसाल कायम करने का था और यह कैसी सजा सुनाई है.’’

First published: 26 March 2018, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी