Home » क्रिकेट » Cricketer Sachin tendulkar opened cricket field secret on his birthday
 

जन्मदिन पर सचिन ने खोले क्रिकेट के कई राज, अश्विन और मयंक को लेकर कही ये बात

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 April 2018, 12:16 IST
(IPL Twitter)

क्रिकेट जगत में तमाम रिकॉर्ड्स के लिए फेमस सचिन तेंदुलकर कल 45 साल के हो गए हैं. सचिन ने अपने 45वें जन्मदिन का केक मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम पर काटा, सचिन ने क्रिकेट से जुडी कई बातों को अपने फैंस से साझा किया. सचिन के अनुसार मैदान पर स्पिनर ज्यादा खतरनाक है जो होता तो ऑफ स्पिनर है लेकिन कभी-कभी अपने लेग स्पिन से बदलाव लाता है.

सचिन के द्वरा की गई इस टिप्पड़ी से आर अश्विन जरुर प्रभावित हुए होंगे, बता दें कि इस समय अश्विन आईपीएल में पंजाब की टीम की कमान संभाल रहे हैं. आईपीएल में अश्विन अपनी कलाई से स्पिन कराके टीम को जीत भी दिला रहे है.

मंगलवार को सचिन ने कहा कि मल्टी टैलेंटेड होना भी जरूरी है, तेंदुलकर ने कहा , "मुझे लगता है कि इससे सिर्फ मदद ही होगी. यह इस तरह है कि आपको दो से तीन अलग - अलग भाषाएं आती हैं. अब पांच या छह अलग अलग भाषाएं जानने में कोई समस्या नहीं है. इससे आपको कोई नुकसान नहीं होगा."


वहीं इस दौरान सचिन ने गेंदबाजी पर बोलते हुए कहा, "यह अधिक विविधताएं खोजने की तरह ही है. यह कहना गलत होगा कि वे ( अंगुली के स्पिनर ) लेग स्पिन गेंदबाजी करके इस सिरीज में शामिल हो रहे हैं. नहीं, ऐसा नहीं है. इसकी जगह हमें ऐसे देखना चाहिए कि उन्होंने एक गेंद का विकास करने के लिए प्रयास किया है."

सचिन से जब पूछा गया कि ऑफ स्पिनरों के प्रयास व्यर्थ हैं तो तेंदुलकर ने कहा , "मुझे लगता है कि यह लोगों की गलत सोच है (कि ऑफ स्पिनर लेग स्पिन नहीं कर सकते). मैं यहां खिलाड़ियों को दोष नहीं दे रहा. मैं यहां लोगों ( धारणा ) को दोष दे रहा हूं. लेग स्पिन आपके लिए तरकश का एक और तीर हो सकती है." सचिन के अनुसार  "लोग ऑफ स्पिन गेंदबाजी कर सकते हैं लेकिन अगर ऑफ स्पिन के साथ वे विविधता के तौर पर लेग स्पिन फेंकने में सक्षम हैं तो फिर क्यों नहीं ऐसा किया जाए."

ये भी पढ़ेंः 20 साल पहले सचिन ने जन्मदिन पर ला दी थी रनों की सुनामी

सचिन ने बताा कि खिलाड़ी का लेग ब्रेक भी कमजोरी नहीं है, उन्होंने कहा "अगर ऑफ स्पिनर के दूसरा फेंकने को उसका हथियार माना जाता है तो स्थिति की मांग के अनुसार वह लेग ब्रेक करता है तो इसे उसकी कमजोरी नहीं समझना चाहिए. इसकी जगह अगर वह इसे अच्छी तरह करता है तो इसे उसका मजबूत पक्ष समझा जाना चाहिए." जब सचिन ने अपने करियर के गेंदबाजी की बात की तो तेंदुलकर ने कहा , "मैं अपने बारे में बात कर सकता हूं. मैचों के दौरान मैं बायें हाथ के बल्लेबाजों को ऑफ स्पिन और दायें हाथ के बल्लेबाजों को लेग स्पिन गेंदबाजी करता था. अगर आप ऐसा करने में सक्षम हैं तो ऐसा क्यों ना किया जाए."

वहीं युवा बल्लेबाजों की लेग स्पिन को समझने में नाकामी पर तेंदुलकर का मानना है , "मुझे नहीं लगता कि यह कहना सही होगा कि बल्लेबाज लेग ब्रेक के बीच में गुगली को नहीं समझ रहे. बल्लेबाज आउट स्विंग गेंद को देख लेता है लेकिन इसके बावजूद बल्ले का किनारा लग जाता है. गलतियां करना मानवीय है. लेकिन मैं सहमत हूं कि लेग स्पिनरों ने आज के बल्लेबाज को अधिक सोचने के लिए बाध्य किया है."

इस खिलाडी के कायल हैं तेंदुलकर

तेंदुलकर ने आईपीएल में मुंबई इंडियन्स की तरफ से खेल रहे युवा लेग स्पिनर मयंक मार्कंडेय की तारीफ की तेंदुलकर ने कहा , "लेग स्पिनरों ने बल्लेबाजों को सोचने के लिए मजबूर किया है. मयंक ने भी ऐसा किया है और बल्लेबाजों को उस पर अधिक ध्यान देना पड़ रहा है. यह मयंक की क्षमता की तारीफ है कि वह अपनी गुगली से इतनी अच्छी तरह छकाने में सफल रहा है. यह सराहनीय है."

सचिन ने अब्दुल कादिर के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्लेबाजी पर कहा , "मैंने कभी महसूस नहीं किया था कि इस छोT की पारी का लोगों पर क्या असर होगा. बेशक ऐसे लम्हे हमेशा लोगों के साथ रहते हैं और मैं इसे लेकर खुश हूं."

ये भी पढ़ेंः सचिन के दिल के करीब है कार पर लगी 'खुशनुमा खरोंच', किया बड़ा खुलासा

तेंदुलकर के मानें तो विश्व क्रिकेट में अब पहले से काफी बदलाव देखे हैं. उन्होंने कहा , "बदलाव ही निरंतर प्रक्रिया है. सबसे बड़ा बदलाव T20 क्रिकेट और क्रिकेट प्रेमी जनता पर इसका असर है." तेंदुलकर ने कहा , "जब मैंने खेलना शुरू किया तो काफी समय तक सफेद कपड़ों में वनडे क्रिकेट खेला. लेकन अब आईपीएल में भी पहले तीन साल की तुलना में क्रिकेट का स्तर बदल गया है."  जब सचिन से पूछा गया कि अगर आईपीएल आपके समय मेंं होता तो आप कुछ अलग करते तो सचिन ने कहा , "बेशक , मैं अलग तरह से बल्लेबाजी करता. "

First published: 25 April 2018, 12:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी