Home » क्रिकेट » cricter Yusuf Pathan gets back dated ban of 5 months for doping violation by violation, won’t miss IPL
 

यूसुफ पठान डोप टेस्ट में दोषी करार, लेकिन खेलेंगे IPL 2018

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 January 2018, 15:52 IST

क्रिकेटर युसूफ पठान को बीसीसीआई ने बड़ा झटका दिया है. युसूफ पठान लंबे समय से क्रिकेट से दूर हैं. ऐसे में बीसीसीआई के इस फैसले से उनके घरेलू क्रिकेट में वापसी पर बड़ा सवालिया निशान लग गया है. हालांकि उनके लिए राहत की बात ये है कि बीसीसीआई के इस फैसले के बाद भी वो आईपीएल में अपना दमखम दिखा पाएंगे.

बीसीसीआई ने युसुफ पठान को डोपिंग को दोषी पाया है. बीसीसीाई ने इस मामले में युसुफ पर पांच महीने का बैन लगाया है. जो पिछले साल 15 अगस्त से शुरू होगा. ये बैन इस साल जनवरी 14 तक रहेगा. बड़ोदा क्रिकेट बोर्ड ने पिछले साल 15 मार्च को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को एंटी डोपिंग परीक्षण के तहत युसुफ पठान के यूरिन का सैंपल भेजा था. उस समय पठान घरेलू T20 टूर्नामेंट खेल रहे थे.

दरअसल यूसुफ पठान ने ब्रोजिट नाम की प्रतिबंधित दवा का सेवन किया था. किसी भी खिलाड़ी को यह दवा लेने के लिए पहले से ही अनुमति लेनी पड़ती है. लेकिन दवा लेने से पहले यूसुफ पठान ने कोई परमिशन नहीं ली. डोप टेस्ट का रिजल्ट आने के बाद बीसीसीआई ने बड़ौदा क्रिकेट एसोसिएशन को जारी सत्र के बाकी मैचों लिए यूसुफ को टीम में न चुनने का आदेश दिया है. इसके बाद युसुफ अब सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में नहीं खेल पाएंगे. 

हालांकि बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक यूसुफ पर अस्थायी रूप से लगाए गए प्रतिबंध की अवधि का लाभ लेने का पूरा हक है, जो उन पर 28 अक्टूबर 2017 से लागू था. बैन के बावजूद यूसुफ पठान आईपीएल की नीलामी में हिस्सा ले सकेंगे.

वहीं युसुफ पठान ने उनका केस सही तरह से लेने के लिए बीसीसीआई का शुक्रिया अदा किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "मैं बीसीसीआई का मेरे केस को सही और बिना पक्षपात से सुनने के लिए धन्यवाद करता हूं." पठान ने टीम इंडिया की तरफ से 57 वनडे और 22 T20 मैच खेले हें. इसके अलावा आईपीएल में कोलकाता नाइटराइडर्स और राजस्थान रॉयल्स के लिए भी खेल चुके हैं.

First published: 9 January 2018, 15:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी