Home » क्रिकेट » Danish Kaneria requests PCB to lift life ban, wants to play domestic cricket
 

दानिश कनेरिया ने पाकिस्तानी बोर्ड से की बैन हटाने की अपील, स्पॉट फिक्सिंग के कारण लगा था आजीवन प्रतिबंधित

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2020, 21:49 IST

पाकिस्तान (Pakistan Cricket Team) के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया (Danish Kaneria) को साल 2013 में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाए जाने के बाद आजीवन प्रतिबंधित कर दिया था. पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए टेस्ट मैचों में सबसे कामयाब खिलाड़ियों में से एक दानिश कनेरिया क्रिकेट मैच खेलने के लिए बेताब हैं और वो घरेलू क्रिकेट खेलने के लिए उत्सुक हैं.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख एहसान मणि को लिखे पत्र में 39 वर्षीय खिलाड़ी दानिश कनेरिया की कानूनी फर्म ने बोर्ड प्रमुख से उन पर लगे प्रतिबंध को रद्द करने का अनुरोध किया, जो कनेरिया को खेल के माध्यम से अपना जीवन यापन करने का मौका देगा.


2012 में इंग्लिश एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड द्वारा उन पर लगाए गए आजीवन प्रतिबंध के बाद पीसीबी ने कनेरिया पर प्रतिबंध लगाया था. दानिश कनेरिया अपने खिलाफ लगे आरोपो पर अपील नहीं कर पाए थे.

दानिश कनेरिया ने कई मौकों पर यह तर्क दिया है कि अगर मोहम्मद आमिर और सलमान बट जैसे पिछले खिलाड़ियों पर लगे प्रतिबंधों को पूरा करने के बाद खेलने की अनुमति दी जा सकती है, तो उन्हें अपनी आजीविका कमाने का मौका देने से इनकार करना अनुचित है, वो भी ऐसी स्थिति में जब उन्हें केवल एक ही स्किल है.

दानिश कनेरिया पर आरोप हैं कि उन्होंने साल 2009 में डरहम के खिलाफ इंग्लिश काउंटी एसेक्स की ओर से खेलते हुए मर्विन वेस्टफील्ड के साथ स्पॉट फिक्सिंग की थी. कनेरिया लंबे समय से पीसीबी की मदद की गुहार लगा रहे हैं.

बता दें, पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए खेलने वाले दानिश कनेरिया दूसरे हिंदू खिलाड़ी हैं, इससे पहले उनके चाचा अनिल दलपत ने पाकिस्तान के लिए खेलते हुए 61 टेस्ट में 34.79 की औसत से 261 विकेट लिए. हालाँकि, उन्होंने केवल 2000 और 2010 के बीच 18 एकदिवसीय मैच खेले.

गौतम गंभीर ने विराट कोहली को लेकर दिया बड़ा बयान, बोले- बतौर कप्तान नहीं हासिल किया कुछ

First published: 15 June 2020, 21:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी