Home » क्रिकेट » Dhoni Injured While Batting Against England in World Cup not dir Scan
 

सेना की ट्रेनिंग करने के लिए धोनी ने सबसे छुपाया ये बड़ा 'राज'

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 August 2019, 17:27 IST

विश्व कप के 12वें संस्करण के दौरान धोनी को अपनी धीमी बल्लेबाजी के कारण काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. भारत के कई दिग्गज क्रिकेटरों ने यहां तक कहा था कि धोनी की धीमी बल्लेबाजी के कारण ही भारत को इंग्लैंड के खिलाफ लीग के मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था. वहीं इस विश्व कप के मुकाबले के बाद धोनी की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई थी जिसमें धोनी अपने अंगूठे से खून निकाल रहे थे.

धोनी की चोट को लेकर जो मीडिया रिपोर्ट आई थी उसमें कहा गया था कि धोनी को काफी गंभीर चोट आई थी लेकिन उन्होंने इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताया. वहीं अब in.com ने टीम इंडिया के एक व्यक्ति से बात करने के बाद कहा है कि धोनी को ना सिर्फ अंगूठे में चोट लगी थी बल्कि उनकी एक अंगुली में भी चोट थी. यह काफी गंभीर चोट थी, लेकिन इसके बाद भी धोनी ने खेलना जारी रखा और अपनी चोट को बात को छुपाए रखा इसलिए उन्होंने अपनी चोट का स्कैन भी नहीं करवाया था.

 

रिपोर्ट के अनुसार सूत्र ने बताया,'इंडिया और इंग्‍लैंड के मैच में धोनी की एक अंगुली चोटिल हो गई थी. हालांकि वे इसके बावजूद खेलते रहे. यह चोट इतनी गंभीर थी कि ऐसा अनुमान है कि अंगुली में हेयरलाइन फ्रेक्‍चर है. अंगुली में इतना दर्द हो रहा था कि वह अपनी मुट्ठी भी बंद नहीं कर पा रहे थे.'

वहीं सूत्र ने साफ किया की धोनी टेरिटोरियल आर्मी में जाना चाहते थे इसलिए उन्होंने अपनी चोट को सभी से इसे छुपाए रखा. खबर के मुताबिक,'धोनी इस चोट को सीक्रेट रखना चाहते थे. वे इस बारे में कोई चर्चा नहीं चाहते. सच तो यह है कि यह मामला सार्वजनिक न हो इसके लिए उन्‍होंने स्‍कैन भी नहीं कराया. इसके पीछे कि बड़ी वजह‍ टेरिटोरियल आर्मी में जाना भी था. वह सेना की ट्रेनिंग से दूर नहीं रहना चाहते थे तो उन्‍होंने इस बारे में किसी को नहीं बताया.'

 

विश्व कप के बाद से ही धोनी की संन्यास की खबरें चल रही थी. हालांकि धोनी ने इस बारे में कुछ नहीं कहा था, वहीं धोनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम के ऐलान के पहले ही बीसीसीआई को अवगत कर दिया था कि वो इस दौरे के लिए उपबल्ध नहीं होने वाले है. धोनी इस दौरान सेना की ट्रेनिंग लेना चाहते थे.

खबरों की माने तो धोनी ने अपनी चोट के बारे में सेना को भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं ही है. इसका कारण है कि धोनी को इस बात का डर था कि कहीं वो चोट केकारण डिसक्‍वालिफाई नहीं हो जाए. सूत्र ने बताया,'वह कुछ वजहों से इस चोट के बारे में आधिकारिक रूप से नहीं बताना चाहते थे ताकि सेना की ट्रेनिंग से डिसक्‍वालिफाई नहीं हो.'

क्या शिखर धवन के कारण इस खिलाड़ी को बाहर बैठा रहे हैं कोहली

First published: 13 August 2019, 17:12 IST
 
अगली कहानी