Home » क्रिकेट » Dilip Sardesai Birth Anniversary: Who is Dilip Sardesai Google Doodle inside story of Rajdeep Sardesai's father and Goa's 1st Cricketer
 

जब दिलीप सरदेसाई ने वेस्टइंडीज के खूंखार गेंदबाजों के छक्के छुड़ाकर बनाया था वर्ल्ड रिकॉर्ड

विकाश गौड़ | Updated on: 8 August 2018, 15:00 IST

गोवा को बस मस्ती और छुट्टियां मनाने के लिए जाना जाता है. यहां हर दिन हजारों लोग समुंद्र के किनारे यानी बीच पर मस्ती करते दिख जाते हैं. यहीं से एक क्रिकेटर बना था, जिसने भारतीय टीम के लिए कई अंतरराष्ट्रीय मैच खेले थे. इसी महान शख्स की 78वीं बर्थ एनिवर्सरी पर आज Google ने Doodle बनाया है.

ये शख्स कोई और नहीं बल्कि टीम इंडिया के पूर्व महान बल्लेबाज दिलीप सरदेसाई हैं, जो 8 अगस्त को गूगल के डूडल पर नजर आ रहे हैं. दिलीप सरदेसाई क्रिकेट के इतिहास के एकमात्र ऐसे प्लेयर हैं, जो गोवा जैसे प्रांत से आते हैं. दिलीप सरदेसाई के साथ एक बात खास ये भी है कि वो वेस्ट इंडीज के लिए विलेन थे.

8 अगस्त 1940 को जन्में दिलीप सरदेसाई ने 2 जुलाई 2007 को अंतिम सांस ली थी. लेकिन 66 साल की उम्र में ही दिलीप सरदेसाई ने अपना नाम कमा लिया था. दिलीप सरदेसाई की मौत चेस्ट इनफेक्शन की वजह से हुई थी. 23 जून 2007 को उन्हें बॉम्बे के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां 2 जुलाई को उनकी मौत हो गई.

उनके साथी क्रिकेटर बताते हैं और उनके आंकड़े भी यही बयां करते हैं कि दिलीप सरदेसाई स्पिन गेंदबाजों के सामने जब भी पड़ जाते थे तो गेंदबाज पानी मांगते नजर आते थे. दिलीप सरदेसाई को स्पिन का स्पेशल बैट्समैन कहा जाता था. यही वजह थी कि उन्होंने 60-70 के दशक में दो दोहरे शतक ठोके थे.

फेमस जर्नलिस्ट राजदीप सरदेसाई के पिता दिलीप सरदेसाई ने टीम इंडिया के लिए कुल 30 टेस्ट मैच खेले थे, जिनमें उन्होंने 2001 रन बनाए. इस दौरान दिलीप सरदेसाई ने 5 बार शतक तो वहीं दो बार दोहरा शतक जड़ा था. इसके अलावा दिलीप सरदेसाई ने 9 बार अर्धशतकीय पारी भी खेली थी.

ये भी पढ़ेंः टेस्ट क्रिकेट का वो वर्ल्ड रिकॉर्ड जो सचिन, सहवाग या विराट के नहीं बल्कि इस खिलाड़ी के नाम है

दिलीप सरदेसाई ऐसे पहले भारतीय जिन्होंने विदेशी सरजमीं पर दोहरा शतक ठोका था. साल 1971 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ उसी की सरजमीं पर दोहरा शतक ठोका था, जब भारत को रनों की शख्त जरूरत थी. उनदिनों वेस्ट इंडीज को गेंदबाजी की सबसे अच्छी टीम माना जाता था लेकिन दिलीप सरदेसाई ने सभी को फेल कर दिया. 

इस मुकाबले में दिलीप सरदेसाई ने 212 रन की पारी खेली थी. दिलीप की इसी पारी की बदौलत भारत इस टेस्ट को ड्रॉ कराने में सफल हो पाया था. वेस्टइंडीज में किसी भी बल्लेबाज द्वारा बनाया गया यह सबसे बड़ा स्कोर था लेकिन इसी सिरीज के आखिरी यानी पांचवे टेस्ट में इस रिकॉर्ड को सुनील गावस्कर ने 220 रन बनाकर तोड़ दिया था.

ये भी पढ़ेंः ग्रेग चैपल को 10 साल बाद टीम इंडिया के इस खिलाड़ी ने दिया है मुंह तोड़ जवाब, जानिए पूरी कहानी

इस भारतीय दिग्गज टेस्‍ट क्रिकेटर के बारे में पूर्व क्रिकेट एडमिनिस्ट्रेटर मकरंद वेंगकर ने एक बड़ा खुलासा किया था. वेंगकर ने अपनी किताब में लिखा, "दिलीप सरदेसाई जितने अच्छे खिलाड़ी थे, उतने ही अच्छे इंसान और प्रेमी भी थे. विदेशी दौरे पर वह अपनी पत्नी को प्रेम पत्र लिखा करते थे."

First published: 8 August 2018, 15:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी