Home » क्रिकेट » DRS is all set to make IPL debut in 2018, BCCI has given the green signal Decision Review System Indian Premier League
 

IPL के इतिहास मेें पहली बार होगा DRS का इस्तेमाल, BCCI ने दी मंजूरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2018, 10:24 IST

IPL के 11वें सीजन में तमाम खिलाड़ी डेब्यू करने वाले हैं इसके साथ एक खबर ये भी है कि इस बार डीआरएस सिस्टम यानी डिसीजन रिव्यू सिस्टम भी क्रिकेट की इस विधा में डेब्यू करने जा रहा है. इसके लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई ने हरी झंडी दे दी है. हालांकि पिछले कई साल तक आईपीएल इसके पक्ष में नहीं था.

 

बता दें कि साल 2016 में इस सिस्टम को बीसीसीआई ने इंटरनेशनल क्रिकेट में लागू किया था. इसी साल इंग्लैंड का भारत दौरा था जिसमें पहली बार भारत ने इस प्रणाली को अपनाया था. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक आईपीएल के इस सीजन में डीआरएस सिस्टम लागू किया जाएगा, जिसके लिए बीसीसीआई की तरफ से मंजूरी मिल गई है.

 

इस बात को लेकर बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा है कि जरूर हम कुछ साल पहले तक इसके पक्ष में नहीं थे लेकिन काफी कुछ सोच विचार करने के बाद हम इसकी जरूरत को समझे और इस सिस्टम को इंटरनेशल क्रिकेट के साथ आईपीएल में भी जारी रखना चाहते हैं. जब हमारे पास कई और साधन अच्छे तो क्यो न डीआरएस को भी अपनाया जाए. बता दें कि करीब डेढ़ साल से इस नियम को हमने इंटरनेशनल क्रिकेट में लागू किया हुआ है.

अधिकारी ने बताया बोर्ड ने पिछले साल दिसंबर में देश के 10 अंपायरों को इसके बारे में जानकारी दी है. इसको लेकर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज और अंपायर पॉल रेफल ने इस सिस्टम की जानकारी इन अंपायरों को दी है. ये अंपायर आईपीएल के इस सीजन में अंपायरिंग करते नजर आएंगे. गौरतलब है कि डॉमेस्टिक क्रिकेट में भारत डीआरएस का इस्तेमाल नहीं करता, लिहाजा बाहर से इसके लिए दस अंपायर हायर किए गए हैं.

First published: 28 February 2018, 10:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी