Home » क्रिकेट » England vs India 2018: England team rotated through Stuart Broad and James Anderson in five-Test series against India
 

India vs England: टीम इंडिया को टेस्ट सिरीज से पहले मिली बड़ी खुशखबरी, ब्रॉड और एंडरसन नहीं खेलेंगे पूरी सिरीज !

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2018, 13:47 IST
(file photo )

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने खुलासा करते हुए कहा है कि भारत के खिलाफ 1 अगस्त से शुरू हो रही पांच टेस्ट मैचों की सिरीज में टीम मैनेजमेंट ने उनको और जेम्स एंडरसन को रोटेशन पॉलिसी के तहत खिलाने की योजना बनाई है. बता दें कि 36 साल के एंडरसन ने कंधे की चोट के चलते 6 हफ्ते का ब्रेक लिया था. अब भारत के खिलाफ सिरीज में वापसी करने जा रहे हैं. वहीं, 32 साल के ब्रॉड को भी एक काउंटी मैच के दौरान पैर में दिक्कत हो गई थी. जिसके बाद वो भी भारत के खिलाफ वापसी करने जा रहे हैं.

मीडिया से बातचीत करते हुए ब्रॉड ने कहा कि पांच टेस्ट मैचों की इस लंबी सिरीज में गेंदबाजों को लेकर बदलाव होते रहेंगे. गेंदबाजों का रोटेशन टॉस, पिच और वर्कलोड पर निर्भर करेगा. अगर दो टेस्ट मैचों में तेज गेंदबाजों को 250 ओवर गेंदबाजी करनी पड़ती है. तो फिर पांच टेस्ट मैचों में इसके बारे में सोचना भी थोड़ा मुश्किल है. आप भरोसा नहीं कर सकते हैं कि आपके तेज गेंदबाज छह सप्ताह में पांच टेस्ट खेलेंगे. लेकिन अगर आप एक टेस्ट मैच खेलते हैं, तो आपक 60 से 80 ओवरों के बीच विपक्षी टीम को आउट कर सकते हैं. फिर आपकी सोच बदल जाती है.

ब्रॉड ने आगे कहा कि अगर पिच टर्न कर रही है, तो फिर आपके स्पिन गेंदबाज भी मदद करते हैं. फिर तेज गेंदबाजों को इतनी गेंदबाजी नहीं करनी पड़ती है. लेकिन जब पिच पर घास है और गेंद रिवर्स स्विंग करना शुरू कर देती है, तो कभी कभी तेज गेंदबाजों पर जिम्मेदारी बढ़ जाती है. उन्होंने कहा कि टीम मैनेजमेंट ने सबको बता दिया है कि योजना के अनुसार तेंज गेंदबाजों को बदला जाएगा.

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ने कहा कि हमारे बीच इसको लेकर बात हुई है कि अगर किसी गेंदबाज को एक पांच टेस्ट मैचों की सिरीज से बाहर बैठना पड़े तो निराश नहीं होना और ना ही इसको व्यक्तिगत हमला या ड्रॉपिंग समझा जाए. मैनेजमेंट को सुनिश्चित करना है  कि  वह अपने गेंदबाजों को कैसे अच्छा मौका देता है. उन्होंने कहा कि वह ऐसी स्थिति नहीं चाहते कि उनको खराब फॉर्म के लिए टीम से बाहर होना पड़े.

ब्रॉड ने कहा कि मैं वहां फिर से वापस नहीं जाना चाहूंगा जहां कहूं भगवान आयो और वापस काउंटी क्रिकेट खेलते हैं. आप खुद को मिस करते हैं. आपकी जगह पर कोई नया गेंदबाज टीम में शामिल हो जाता है. आप टीम के आसपास रहते हैं और बातचीत करते हैं. उन्होंने कहा कि वह टीम का हिस्सा बने रहे इसलिए पांच टेस्ट मैचों की लंबी सिरीज के लिए बदलाव होना स्वभाविक है.

ये भी पढ़ें- गांगुली को टीम इंडिया के 'गब्बर' पर नहीं है भरोसा, कहा- टेस्ट सिरीज में इस खिलाड़ी से कराएं ओपनिंग

First published: 30 July 2018, 13:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी