Home » क्रिकेट » first semi final between England vs Pakistan played on Wednesday in the ICC Champions Trophy 2017
 

चैंपियंस ट्रॉफी: 25 साल बाद इंग्लैंड के पास पाकिस्तान से बदला लेने का मौक़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2017, 13:07 IST

चैम्पियंस ट्रॉफ़ी के पहले सेमीफ़ाइनल में इंग्लैंड का मुक़ाबला पाकिस्तान से कार्डिफ में हो रहा है. मेजबान इंग्लैंड की टीम चैम्पियंस ट्रॉफ़ी में अब तक अजेय रही है, वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान की टीम श्रीलंका को रोमांचक मैच में हराकर सेमीफाइनल में पहुंची है.

1992 के बाद बदला चुकाने का मौका

पाकिस्तान और इंग्लैंड की टीमें 25 साल बाद आईसीसी के किसी बड़े टूर्नामेंट के नॉकआउट राउंड में भिड़ रही हैं. इससे पहले दोनों टीमों की 1992 के वर्ल्ड कप के फ़ाइनल में टक्कर हुई थी. 25 मार्च, 1992 को एडिलेड में खेले गए मुक़ाबले में पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 50 ओवर में छह विकेट पर 249 रन बनाए थे. 

इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम 50वें ओवर में 227 रनों पर सिमट गई थी. पाकिस्तान ने 22 रनों की जीत के साथ पहली बार वर्ल्ड कप जीतकर अपने कप्तान इमरान ख़ान को शानदार विदाई दी थी.

इंग्लैंड को घरेलू मैदान का फ़ायदा

इंग्लिश टीम को अपने घरेलू मैदान पर खेलने का लाभ भी मिल सकता है. इतना ही नहीं, पिछले 14 वनडे मुक़ाबलों में 12 बार इंग्लैंड ने पाकिस्तान को हराया है. इंग्लैंड के जो रूट, ईऑन मॉर्गन और एलेक्स हेल्स जैसे बल्लेबाज़ ज़ोरदार फॉर्म में नज़र आ रहे हैं.

गेंदबाज़ी में लियम प्लंकेट और आदिल राशिद का प्रदर्शन शानदार रहा है. बेन स्टोक्स जैसा ऑलराउंडर भी इंग्लैंड के पास है. इन सबके के बावजूद इंग्लैंड की टीम पाकिस्तान को हल्के में लेने का जोखिम नहीं ले सकती. क्योंकि पाकिस्तानी टीम में उलटफेर करने वाले सितारे भरे हुए हैं.

कप्तान सरफ़राज़ अहमद ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ जिस तरह टीम को जीत दिलाई, उससे टीम का मनोबल भी बढ़ा हुआ है. टीम में अज़हर अली, बाबर आज़म, मोहम्मद आमिर और ज़ुनैद ख़ान जैसे नेचुरल टैलेंट वाले खिलाड़ी मौजूद हैं.

First published: 14 June 2017, 13:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी