Home » क्रिकेट » Gautam Gambhir reminder world Cup 2011 won by Entire Team
 

धोनी ने छक्का लगा भारत को दिलाया था विश्व कप, भड़के गौतम गंभीर, बोले-पूरी भारतीय टीम..

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2020, 17:57 IST

2 अप्रैल का दिन शायद ही किसी भारतीय फैंस को याद ना हो क्योंकि इसी दिन भारतीय टीम (India National Cricket Team) ने 28 साल बाद विश्व कप (World Cup 2011) का खिताब अपने नाम किया था. भारतीय टीम ने 2011 के विश्व कप के फाइनल मुकाबले में श्रीलंकाई टीम (Sri Lanka Cricket Team) को हराया था.

टीम इंडिया (Team India) के लिए जीत का छक्का एम एस धोनी (MS Dhoni) ने लगाया था. जबकि भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने फाइनल मुकाबले में 97 रनों की पारी खेली थी और उनकी पारी काफी महत्वपूर्ण समय पर आई थी ऐसे में उनके योगदान को कोई नकार नहीं सकता. वहीं धोनी के छक्के को अब गौतम गंभीर ने कहा है कि धोनी के छक्के नहीं बल्कि टीम इंडिया की जीत में टीम इंडिया और सपोर्ट स्टाफ का हाथ था.


दरअसल, ईएसपीएन क्रिकइंफो ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया जिसमें लिखा था,'आज के दिन 2011 में, वो शॉट जिसने करोड़ों इंडियन फैन्स को जश्न में डुबो दिया था.' ऐसे में गंभीर ने इस ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा,'क्रिकइंफो आपको याद दिलाना चाहूंगा कि विश्व कप जीतने में पूरे भारत, टीम इंडिया और सपोर्ट स्टाफ का हाथ था. बहुत हुआ एक छक्के के लिए ही आपका इतना प्यार.'

ये भी पढ़े- रोहित शर्मा ने ऋषभ पंत को किया ट्रोल, बोले-'एक साल हुआ नहीं उसको क्रिकेट खेल..

 

ये भी पढ़े- घर में चाय बना रही थी इस क्रिकेटर की पत्नी, गैस सिलेंडर फट जाने से हुआ बड़ा हादसा

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रालंका ने विश्व कप के फाइनल मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया को 275 रनों का लक्य दिया था. श्रीलंका से मिले लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को वीरेंद्र सहवाग के रूप में पहला झटका लगा और उनके आउट होने के बाद सचिन तेंदुलकर का विकेट गिरने के बाद टीम इंडिया मुश्किल में आ गई थी.

हालांकि गंभीर ने 97 रनों की पारी खेलकर टीम इंडिया को मुश्किल परिस्थिति से निकाला. गंभीर ने इस मैच में पहले विराट कोहली के साथ मिलकर 83 रनों की पारी खेली और फिर उसके बाद उन्होंने धोनी के साथ मिलकर 99 रन जोड़े. गंभीर टीम को जीत नहीं दिला पाए और जब टीम को 50 रनों की जरूरत थी तब वो आउट हुए. अंत में धोनी ने अपना काम किया और टीम को जीत दिलाई.

ये भी पढ़े- कोरोना वायरस का असर, दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार रद्द किया गया विंबलडन का आयोजन

First published: 2 April 2020, 15:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी