Home » क्रिकेट » Gautam Gambhir slams Shahid Afridi on his tweet on Kashmir says Pakistani cricketer celebrating a dismissal off a no ball
 

आतंकियों की मौत पर अफरीदी और इमरान ने जताई हमदर्दी तो गंभीर ने दिया ये जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 April 2018, 10:02 IST

क्रिकेटर गौतम गंभीर ने पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी और इमरान खान को करारा जवाब दिया है. गंभीर ने अफरीदी के ट्वीट को नो बॉल पर मिले विकेट के जश्न जैसा बताया. साथ ही कहा कि मीडिया को उन्हें गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है.

बता दें कि शाहिद अफरीदी ने ट्विटर पर ट्वीट कर जम्मू-कश्मीर में 13 आतंकवादियों के मारे जाने पर हमदर्दी जताई थी. जिसका जवाब गौतम गंभीर ने भी ट्वीट कर दिया. गंभीर ने ट्वीट में लिखा, "हमारे कश्मीर और संयुक्त राष्ट्र को लेकर किए गए शाहिद अफरीदी के ट्वीट पर रिएक्शन के लिए मीडिया की ओर से मुझे कॉल आए. इसमें क्या कहना है?"

गंभीर ने आगे लिखा, "अफरीदी सिर्फ यूएन की ओर देख रहे हैं, जिसका मतलब उनके शब्दकोश में अंडर-19 है. मीडिया इसे हल्के में ही ले. अफरीदी नो बॉल पर आउट होने का जश्न मना रहे हैं."

13 आतंकवादियों के मारे जाने पर क्या बोले थे अफरीदी

इससे पहले शाहिद अफरीदी ने ट्वीट कर लिखा था, कि 'भारत अधिकृत कश्मीर की स्थिति बेचैन करनेवाली और चिंताजनक है. यहां आत्मनिर्णय और आजादी की आवाज को दबाने के लिए दमनकारी शासन द्वारा निर्दोषों को मार दिया जाता है. हैरान हूं कि संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठन कहां हैं? वे इस खूनी संघर्ष को रोकने के लिए कुछ क्यों नहीं कर रहे?'

कश्मीर मुद्दे को लेकर पहले भी कर चुके हैं ट्वीट

यह पहली बार नहीं है जब अफरीदी ने कश्मीर मुद्दे को लेकर ट्वीट किया हो. उन्होंने इससे पहले भी ऐसा ही ट्वीट किया था. तब अफरीदी ने लिखा था, 'कश्मीर पिछले कई दशकों से क्रूरता का शिकार हो रहा है, अब वक्त आ गया है कि इस मुद्दे को सुलझा लिया जाए जिसने कई लोगों की जान ली.' दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा था, 'कश्मीर धरती पर स्वर्ग है और हम मासूमों की पुकार को अनदेखा नहीं कर सकते.'

 

रविवार को सेना ने जम्मू-कश्मीर में 13 आतंकवादियों को मार गिराया

बता दें कि सेना ने भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर में रविवार को आतंकरोधी अभियान के तहत 13 आतंकियों को मार गिराया था. इस मामले को लेकर अफरीदी ने ट्वीट कर कश्मीर की स्थिति को बेचैन करने वाला बताया. साथ ही संयुक्त राष्ट्र सहित दूसरे अंतरराष्ट्रीय संगठनों पर सवाल खड़े किए थे.

First published: 4 April 2018, 10:02 IST
 
अगली कहानी