Home » क्रिकेट » Gautma Gambhir urges selector to give chances to these youngsters
 

गौतम गंभीर बोले- धोनी की जगह इन खिलाड़ियों को मिले टीम इंडिया में जगह

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 July 2019, 15:20 IST

विश्व कप के समाप्त होने के बाद से लगातार धोनी के संन्यास की खबरें चल रही है. सभी अपना-अपना तर्क दे रहे है कि धोनी को अब संन्यास ले लेना चाहिए या फिर नहीं. अब इस कड़ी में गौतम गंभीर का भी नाम जुड़ गया है. गौतम गंभीर ने धोनी की संन्यास की अटकलों को लेकर कहा, धोनी को भारतीय क्रिकेट के भविष्य को ध्यान में रखते हुए प्रैक्टिकल होकर सोचना चाहिए.

विश्व कप के 12वें संस्करण के खत्म होने के बाद से ही धोनी की संन्यास की खबरें चल रही है. हालांकि धोनी ने अभी तक इस पर कोई बयान नहीं दिया है. इससे पहले पूर्व भारतीय बल्लेबाज सहवाग ने कहा था कि सेलेक्टरो को धोनी को बता देना चाहिए कि वो उन्हें आगे मौका देना चाहतें है या नहीं. साथ ही उन्होंने कहा था कि धोनी कब संन्यास लेंगे यह फैसला धोनी पर ही छोड़ देना चाहिए. वहीं अब क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर ने धोनी की संन्यास के बारे में कहा कि उन्हें प्रैक्टिकल होकर सोचना चाहिए. 

गंभीर ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा,'यह जरूरी है कि आप भविष्य के बारे में सोचें और जब धोनी खुद कप्तान थे, तो उन्होंने भविष्य को लेकर फैसले लिए थे. मुझे याद है कि ऑस्ट्रेलिया में धोनी ने सीबी सीरीज से पहले कहा था कि मैं, सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग इसमें नहीं खेल सकते हैं क्योंकि मैदान बड़े थे. उनका मानना था कि अगले विश्व कप के लिए युवा क्रिकेटरों को टीम में जगह दी जाए. इस पर प्रैक्टिकल फैसला लेना चाहिए ना कि इमोशनल होकर.'

वहीं गंभीर ने यह भी कहा कि भारत को अभी से ही 2023 के विश्व कप के लिए अपनी तैयारियां शुरू कर देनी चाहिए. उन्होंने कहा कि भारत को साल 2023 के विश्व कप से पहले एक विकेटकीपर को तैयार करना होगा. उन्होंने युवा क्रिकेटरों को तरजीह देने पर भी जोर दिया, उन्होंने कहा,' भावनात्मक होने के बजाय वास्तविक निर्णय लेना आवश्यक है. यह युवाओं को तैयार करने का समय है. ऋषभ पंत, संजू सैमसन, ईशान किशन या कोई भी अन्य विकेट कीपर , जो प्रतिभाशाली हो उन्हें मौका दिया जाना चाहिए.'

वहीं गंभीर ने कहा कि भारत ने साल 2007 और 2011 में जो विश्व कप जीते है उसका श्रेय सिर्फ धोनी को नहीं दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, यह सच है कि उन्होंने दो विश्व कप भारत को जीतवाए है लेकिन जीत का सारा श्रेय उन्हें देना उचित नहीं है.'

वेस्टइंडीज दौरे पर टीम के साथ नजर नहीं आएँगे धोनी, आर्मी की लेंगे ट्रेनिंग!

First published: 19 July 2019, 15:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी