Home » क्रिकेट » Happy Birthday Kiran Shankar More has most world Record of Maximum stumping in a match
 

इस भारतीय खिलाड़ी के कारण मैदान पर बंदर की तरह कूदने लगा था यह पाकिस्तानी क्रिकेेटर

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 September 2019, 15:18 IST

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व विकेटकीपर किरण मोरे को बेहरतरीन विकेटकीपरों की सूची में शुमार किया जाता है. 4 सितंबर 1962 को गुजरात के वडोदरा में जन्मे किरण मोरे ने 1984 में क्रिकेट खेलना शुरू किया था. किरण मोरे ने अपने पहले मैच में ही पांच खिलाड़ियो को स्टंप आउट कर इतिहास रच दिया था. किरण मोरे का करियर सिर्फ इतन ही नहीं है उनके करियर में और भी कई ऐसे दिलचस्प किस्से हुए है जिन्हें आज भी याद किया जाता है.

साल 1988 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए मुकाबले में किरण मोरे ने एक मुकाबले में सात खिलाड़ियों को पवेलियन की राह दिखाई थी. किरण मोरे ने इस मैच में छह स्टंप किए थे जबकि एक कैच किया था.

किरण मोरे के साथ जुड़ा एक किस्सा और है. साल 1990 में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए मुकाबले में संजीव शर्मा की एक गेंद पर किरण मोरे ने इंग्लैंड के बल्लेबाज ग्राहम गूच का आसान का कैच छोड़ दिया था. जब किरण मोरे ने उनका कैच छोड़ा था तब ग्राहम गूच 36 रनों के निजी स्कोर पर खेल रहे थे. कैच छूटने के बाद उन्होंने 333 रनों की विशाल पारी खेली और भारत यह मुकाबला 247 रनों से हार गया था.

 

साल 1992 में क्रिकेट के मैदान पर एक एक वाक्या भी हुआ है जो आज तक याद किया जाता है. साल 1992 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए मुकाबले में किरण मोके काफी अपील खेल रहे थे. जिससे परेशान होकर जावेद मियांदाद ने पिच पर कूदना शुरू कर दिया था. मियांदाद का इस तरह से मैदान पर कूदता देखकर फैंस काफी हैरान हो गए थे.

इसके अलावा किरण मोरे साल 2002 से लेकर 2006 तक भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ सेलेक्टर थे तब उन्होंने ग्रेग चैपल से विवाद के कारण सौरव गांगुली को टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया था. किरण मोरे की इस फैसले के कारण जमकर आलोचना हुई थी.

किरण मोरे ने अपने करियर में भारत के लिए 94 वनडे खेले हैं. किरण मोरे वनडे मुकाबले में एक भी अर्धशतक नहीं लगा पाए और उनका सर्वाधिक स्कोर 42 रन रहा.

पहली बार हुआ ऐसा, इस खिलाड़ी को बनाया गया हेड कोच और सेलेक्टर

First published: 4 September 2019, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी