Home » क्रिकेट » hardik pandya's father himanshu pandya reveals pain says his son is not going out of home
 

कॉफ़ी विद करण में जाने से बर्बाद हुआ हार्दिक पांड्या का करियर, पिता ने खुद बयां किया दर्द

न्यूज एजेंसी | Updated on: 17 January 2019, 15:55 IST

हार्दिक पांड्या के पिता ने बुधवार को कहा है कि हरफनमौला खिलाड़ी हाल ही में हुए विवाद के बाद घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं और न ही किसी का फोन उठा रहे हैं. हार्दिक को 'कॉफी विद करण' शो पर महिलाओं के खिलाफ दिए गए बयान के बाद बीसीसीआई ने प्रतिबंधित कर दिया था और आस्ट्रेलिया से वापस बुला लिया था.


हार्दिक ने सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है. उन्होंने मकर संक्रांति भी नहीं बनाई. हार्दिक का परिवार गुजरात के बड़ौदा से आता है और गुजरात में इस त्योहार के काफी मायने हैं.

हार्दिक के पिता हिमांशू ने अंग्रेजी अखबार मिड-डे से कहा, "यह त्योहार है, गुजरात में पब्लिक हौलीडे रहता है, लेकिन हार्दिक पतंग नहीं उड़ा रहा है. उसे पतंग उड़ाना पसंद है, लेकिन उसे क्रिकेट के व्यस्त कार्यक्रम के कारण घर पर रहने का मौका नहीं मिला था, उन्होंने कहा, "इस बार वह घर पर है और उसके पास पतंग उड़ाने का मौका है, लेकिन अजीब स्थिति के कारण वह त्योहार मनाने के मूड़ में नहीं है."

हार्दिक के साथ सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल भी शो में पहुंचे थे और उन पर भी प्रतिबंध है. प्रशासकों की समिति (सीओए) ने इन दोनों पर दो मैचों का प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की थी लेकिन अभी बीसीसीआई ने इनकी सजा के बारे में अभी तक कोई अंतिम फैसला नहीं लिया है.

 

हिमांशू ने कहा, "वह प्रतिबंध से काफी निराश है और टीवी पर उसने जो कहा उसका उसे पछतावा है. उसने ऐसा दोबारा न करने की कसम खाई है," उन्होंने कहा कि हमने फैसला किया है कि हम इस मसले पर उससे बात नहीं करेंगे. उसके बड़े भाई क्रूणाल ने भी इस पर बात नहीं की है. हम बीसीसीआई के फैसले का इंतजार कर रहे हैं."

First published: 17 January 2019, 15:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी