Home » क्रिकेट » ICC changes the playing rules of cricket, to be introduced on September 28.
 

ICC ने बदले क्रिकेट के कई नियम, अब बल्लेबाज को ऑउट करना हुआ मुश्किल

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2017, 17:45 IST

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी ) ने क्रिकेट के नियमों में कई बड़े बदलाव किए हैं. ये नियम 28 सितंबर 2017 से लागू होंगे. हालांकि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही सिरीज़ पर इसका असर नहीं पड़ेगा.

दरअसल क्रिकेट के नियमों में ये बदलाव आगामी 1 अक्तूबर से लागू किए जाने थे, लेकिन दो टेस्ट मैच 28 सितंबर से शुरू होंगे. इसलिए इन्हें इसी दिन से लागू करने का फैसला किया गया. आईसीसी ने प्रेस रिलीज़ जारी कर इसकी जानकारी दी है.  ये सारे बदलाव क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने किए हैं.

अब आउट करना होगा मुश्किल

नए नियमों के अनुसार अगर एलबीडब्ल्यू के लिए रेफरल 'अंपायर्स कॉल' के रूप में वापस आता है, तो टीमें अपना रिव्यू नहीं गंवाएंगी. यानी फील्ड अंपायर का फैसला सही होने पर रिव्यू का मौका बना रहेगा.

एमसीसी ने रन आउट को लेकर भी एक बदलाव किया गया है. पहले के नियम के मुताबिक, जब गेंद स्टंप में लगती है तब बल्लेबाज का बैट या बॉडी, पॉपिंग क्रीज में ग्राउंडेड (जमीन पर) होनी चाहिए. लेकिन नए नियमों के मुताबिक, अब ऐसा नहीं होगा. अगर बल्ला और बॉडी एक बार पॉपिंग क्रीज क्रॉस कर लेता है तो बल्लेबाज को आउट नहीं दिया जाएगा चाहे गेंद स्टंप में लगते वक्त उसका बल्‍ला हवा में ही क्‍यों न हो. 

अब बल्लेबाज तब भी कैच, स्टंप और रन आउट हो सकता है, भले ही गेंद फील्डर या विकेटकीपर द्वारा पहने गए हेलमेट से लगकर आई हो.

नए नियमों के मुताबिक, बाउंड्री पर हवा में कैच पकड़ने वाले फील्डर को बाउंड्री के अदर ही रहकर कैच पकड़ना होगा, नहीं तो उसे बाउंड्री माना जाएगा.

एमसीसी ने हैंडल्ड द बॉल नियम को हटा दिया है. अब उस तरीके से आउट होने वाले बल्लेबाज को 'ऑब्सट्रक्टिंग द फील्ड' नियम के तहत आउट दिया जाएगा.

बल्ले को लेकर बने नियम

आईसीसी ने बल्ले और गेंद में संतुलन बनाए रखने के लिए बल्ले के किनारों का आकार और उसकी मोटाई सीमित कर दी है. आईसीसी ने कहा, 'बल्ले की लंबाई और चौड़ाई पर रोक बरकरार रहेगी, लेकिन किनारे की मोटाई अब 40 मिमी से ज्यादा नहीं हो सकती और इसकी किनारे की पूरी गहराई अधिकतम 67 मिमी ही हो सकती है.'

अनुचित व्यवहार करने वाले खिलाड़ी होंगे मैदान से बाहर 

अब मैदान में ख़राब व्यवहार की वजह से पेनाल्टी के रूप में पांच रन के साथ-साथ खिलाड़ी को पूरे मैच से सस्‍पेंड भी किया जा सकता है.

First published: 26 September 2017, 17:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी