Home » क्रिकेट » ICC mention Rahul Dravid as Left Hand batsman
 

ICC को नहीं पता राहुल द्रविड़ कैसे करते हैं बल्लेबाजी? सोशल मीडिया पर फैंस ने लगाई लताड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 September 2019, 19:12 IST

अपनी बल्लेबाजी के कारण द वॉल के नाम से मशूहर पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ हमेशा से दाए हाथ के बल्लेबाज रहे हैं. शायद ऐसा एक भी मैच नहीं हुआ हैं जिसमें राहुल द्रविड़ ने बाए हाथ से बल्लेबाजी की हो. क्रिकेट में उनके योगदान के कारण ही ICC ने बीते साल राहुल द्रविड़ को हॉल ऑफ फेम के सम्मान से भी नवाजा हुआ है लेकिन उसी ICC को यह नहीं मालूम की राहुल द्रविड़ किस हाथ से बल्लेबाजी करते है.

ICC ने अपनी अधिकारिक बेवसाइट पर राहुल द्रविड़ के बारे में जो जानकारी लिखी है उसमें उन्होंने राहुल द्रविड़ को बाए हाथ का बल्लेबाज लिखा हुआ है. बीसीसीआई ने शुक्रवार को रवि शास्त्री और राहुल द्रविड़ की एक तस्वीर साझा की है. राहुल द्रविड़ टीम इंडिया के खिलाड़ियों से मिलने गए थे. जिसके बार सोशल मीडिया पर राहुल द्रविड़ ट्रैंड करने लगा. इसके बाद सोशल मीडिया पर कई यूजर ने ICC बेवसाइ की तस्वीर शेयर करनी चालू कर दी.


एक यूजर ने ICC को लताड़ लगाते हुए लिखा, ICC क्या आपके पास आंख नहीं है, कभी देखा नहीं कि राहुल किस तरह के बल्लेबाज है. अगर आपने द्रविड़ को खेलते हुए नहीं देखा है तो एक बार उनके वीडियो देख लो.द्रविड़ बाए हाथ के बल्लेबाज नहीं है. वो दाए हाथ के बल्लेबाज है. और वो भारतीय क्रिकेट की दीवार है.

एक अन्य यूजर ने लिखा, राहुल द्रविड़ बाए दाथ के बल्लेबाज ह? ICC ने बीते साल ही उन्हें हॉल ऑफ फेम में शामिल किया है लेकिन उन्हें नहीं पता कि राहुल का बल्लेबाजी स्टाइल किया है.

बता दें, राहुल द्रविड़ ने भारत के लिए 164 टेस्ट मुकाबले खेले है जिसमें उन्होंने 13288 रन बनाए है. इस दौरान उनके बल्ले से 36 शतक, 5 दोहरे शतक, 63 अर्धशतक लगाए है. जबकि उन्होंने 344 वनडे मुकाबलो में 10889 रन बनाए है.

वनडे मुकाबलों में राहुल द्रविड़ के बल्ले से 12 शतक और 83 अर्धशतक आए है. राहुल द्रविड़ ने एक टी20 मुकाबला भी खेला है जिसमें उन्होंने 31 रन बनाए है. वहीं राहुल ने आईपीएल में भी अपनी बल्लेबाजी का जलवा बिखेरा है. राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलते हुए उन्होंने 89 मैचों में 2174 रन बनाए है.

हार्दिक पंड्या ने शेयर की बचपन की तस्वीर, किया खुलासा, कभी ट्रक पर सवार होकर जाते थे..

First published: 20 September 2019, 18:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी