Home » क्रिकेट » ICC Women's World Cup: England reaches final to defeat south Africa in semifinal.
 

ICC Women's World Cup: इंग्लैंड फाइनल में, भारत से मुकाबला मुमकिन

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 July 2017, 11:27 IST
womens world cup

इंग्लैंड ने मंगलवार को आईसीसी महिला विश्व कप के पहले सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका को रोमांचक मुकाबले में दो विकेट से मात देते हुए फाइनल में प्रवेश कर लिया है. इंग्लैंड ने पहले शानदार गेंदबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका को निर्धारित 50 ओवरों में छह विकेट पर 218 रनों पर ही समेट दिया. इसके बाद इंग्लैंड ने लक्ष्य को दो गेंद शेष रहते हुए आठ विकेट खोकर हासिल कर लिया. 

इंग्लैंड की टीम फाइनल में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जाने वाले दूसरे सेमीफाइनल मैच की विजेता से भिड़ेगी. दूसरा सेमीफाइनल गुरुवार को खेला जाएगा. इंग्लैंड की तरफ से प्लेयर ऑफ द मैच सारा टेलर ने सर्वाधिक 54 रन बनाए. आखिरी ओवरों में जैनी गन का 27 गेंदों का योगदान भी इंग्लैंड की जीत में अहम साबित हुआ.

साउथ अफ्रीका के दिए आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड को लॉरन विनफील्ड (20) और टैमी बेयुमोंट (15) ने सधी हुई शुरुआत दी और पहले विकेट के लिए 42 रन जोड़े. टेलर और हीथर नाइट (30) ने तीसरे विकेट के लिए 78 रनों की साझेदारी करते हुए इंग्लैंड को दबाव से बाहर निकाला. इस जोड़ी ने किसी तरह की जल्दबाजी नहीं की और समय लेते हुए रन बनाए. इन दोनों ने 19.1 ओवरों में 4.06 की औसत से रन जोड़े. 

76 गेंदों का सामना कर सात चौके मारने वाली सारा 139 के कुल स्कोर पर रन आउट हो गईं फ्रान विल्सन (30) और कैथरीन ब्रंट (12) ने टीम को जीत के करीब ले जाने की कोशिश की, लेकिन यह साझेदारी 173 के कुल स्कोर पर टूट गई. ब्रंट, मोसेलिने डेनियल्स की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौटीं.

अंत में विल्सन ने गन के साथ मिलकर टीम को मुश्किल समय में बिखरने नहीं दिया और टीम को जीत के करीब पहुंचाया. विल्सन ने 38 गेंदों की अपनी पारी में तीन चौके लगाए. गन ने अंत में आकर 27 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से नाबाद पारी खेली. 

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीका टीम की शुरुआत खराब रही. प्रीज और वोलवार्ट ने टीम को संभाला और सौ का आंकड़ा पार कराते हुए तीसरे विकेट के लिए 77 रन जोड़े. इसके बाद प्रीज अकेली संघर्ष करती रहीं. दूसरे छोर पर साथ न मिल पाने के कारण वह रन गति को बढ़ाने में भी असफल रहीं. उन्होंने 95 गेंदों का सामना किया और पांच चौके लगाए.

First published: 19 July 2017, 11:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी