Home » क्रिकेट » in ranji trophy this cricketer playing double role as performing his duty of journo as well
 

दिनभर क्रिकेट खेलने के बाद शाम को 'ऐसा' काम करता है ये खिलाड़ी, गर्व से चौड़ी हो जाएगी छाती

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 November 2018, 9:25 IST

भारत के रणजी ट्रॉफी इतिहास में जो पहले कभी नहीं हुआ, वह अब हो रहा है. वैसे और भी न जाने आगे क्या-क्या देखने को मिलेगा. लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के अमल में आने के बाद वास्तव में इस रणजी ट्रॉफी सेशन में अजीब-गरीब बातें सामने आ रही हैं.

वास्तव में ये तमाम नई बातें प्लेट ग्रुप की नौ टीमों के साथ देखने को मिल रही हैं. अगर आप नहीं जानते, तो बता दें कि लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को लागू करने के बाद इस बार कुछ राज्य पहली बार रणजी ट्रॉफी में हिस्सा ले रहे हैं. ये नौ राज्य उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, पुडुचेरी, सिक्किम और  बिहार हैं. अगर बिहार को छोड़ दें, तो बाकी के राज्य क्रिकेट के लिहाज से बहुत ही ज्यादा कमजोर हैं. लेकिन लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के चलते बीसीसीआई को इन राज्यों को रणजी ट्रॉफी में उतारना पड़ा.

आनन-फानन में बीसीसीआई ने इन राज्यों को अपनी टीम तैयार करने के लिए कहा. निर्देश ये भी थे कि अगर एक सीमा से ज्यादा बाहरी खिलाड़ियों को खिलाया जाएगा, तो उस राज्य का भुगतान रोक दिया जाएगा. नतीजा यह हुआ कि इन राज्यों में ऐसे खिलाड़ियों को भी जगह दी गई, जो काफी पहले क्रिकेट खेलना छोड़ चुके थे. या अपनी आजीविका के लिए कुछ और काम कर रहे थे. लेकिन अरुणाचल प्रदेश टीम के साथ एक अलग ही मामला देखने में आया है. उसके तेज गेंदबाज संदीप कुमार ठाकुर दोहरी भूमिका निभा रहे हैं.


संदीप कुमार दिन भर मैदान पर अपनी टीम के लिए पसीना बहाते हैं. और फिर दिन का खेल खत्म होने के बाद अपने अखबार के लिए मैच रिपोर्ट भेजते हैं. संदीप कुमार पेशे से पत्रकार हैं.

First published: 3 November 2018, 9:25 IST
 
अगली कहानी