Home » क्रिकेट » IND v AUS 4th ODI: Virat Kohli is going to break MS Dhoni's record in Bengaluru against Australia
 

बेंगलुरू वनडे में धोनी का रिकॉर्ड तोड़ने की पूरी तैयारी में कोहली

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 September 2017, 17:44 IST
(PTI)

एकदिवसीय मैचों के सबसे सफल कप्तान का रिकॉर्ड रखने वाले महेंद्र सिंह धोनी को अब मौजूदा कप्तान विराट कोहली से कड़ी चुनौती मिल रही है. इंदौर वनडे में ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त देकर लगातार 9 मैच जीतने के धोनी की रिकॉर्ड की बराबरी करने के बाद अब कोहली की नजर बेंगलुरू वनडे जीतकर इस रिकॉर्ड को तोड़ने पर है.

लगातार जीत के धोनी के रिकॉर्ड को तोड़ने और नया रिकॉर्ड बनाने की कोशिश में जुटे कप्तान विराट कोहली बृहस्पतिवार को हर हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह मैच जीतना चाहेंगे. जाहिर है कोहली की इसके लिए पुरजोर कोशिश करेंगे क्योंकि फिलहाल टीम इंडिया अपने फुल फॉर्म में चल रही है.

बृहस्पतिवार को बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही पांच वनडे सिरीज का चौथा मैच खेला जाना है. टीम इंडिया पहले ही सिरीज में 3-0 से अजेय बढ़त ले चुकी है.

इससे पहले फरवरी 2008 से लेकर जनवरी 2009 तक तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने लगातार नौ मैचों में जीत हासिल कर यह रिकॉर्ड बनाया था. आठ साल के लंबे वक्त के बाद अब बीते 6 जुलाई से कप्तान विराट कोहली का विजय रथ चालू हो चुका है जो अभी तक चल रहा है.

 

श्रीलंका को उसके घर में हर फॉर्मैट में शिकस्त देने के बाद अब टीम इंडिया के शानदार प्रदर्शन के चलते कंगारुओं को कब्जे में ले लिया गया है और तीनों ही मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

पिछले मैच में टीम इंडिया की बल्लेबाजी बेहतरीन रही. हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरुआती दो मैचों में उसका मध्यक्रम विफल रहा था, लेकिन टीम कोच रवि शास्त्री ने इसमें बदलाव किए और तीसरे मैच में हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या को चौथे नबंर पर उतारा और उनके स्थान पर मनीष पांडे को भेजा. उनका प्रयोग सफल रहा और टीम को जीत मिली.

बृहस्पतिवार के मैच भी टीम इंडिया अपने शुरुआती दो मैचों से सबक लेकर पांड्या को चौथे नंबर पर उतार सकती है. वहीं, रोहित और अजिंक्य रहाणे पर टीम को अच्छी शुरुआत देने की जिम्मेदारी होगी. रहाणे ने पिछले मैच में अर्धशतक जड़ा था. वहीं कोहली और धोनी भी बल्ले से रन कर रहे हैं. पांडे पर हालांकि दबाव होगा लेकिन पिछले मैच में किए गए रन उनमें आत्मविश्वास का संचार कर सकते हैं.

इस सिरीज में भारत की गेंदबाजी भी उसकी सबसे बड़ी ताकत रही है। चाहे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार हों या स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव, सभी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है.

सीरीज पर कब्जा जमा चुकी मेजबान टीम इस मैच में बेंच पर बैठे खिलाड़ियों को आजमा सकती है. मोहम्मद शमी, उमेश यादव और अक्षर पटेल इस स्थिति में अंतिम एकदाश में आ सकते हैं. वहीं, मेहमान टीम के लिए कुछ भी अच्छा नहीं रहा है. वह बल्ले और गेंद दोनों से अच्छी शुरुआत के बाद भी पीछे रह जाती है.

लेकिन हो कुछ भी टीम इंडिया का ओवरऑल शानदार प्रदर्शन और ऑस्ट्रेलिया की नाकामयाब होती हर चाल कोहली को नया रिकॉर्ड बनाने में मददगार साबित हो सकती है.

First published: 27 September 2017, 17:44 IST
 
अगली कहानी