Home » क्रिकेट » IND v AUS: India wins first test match by 31 runs against Australia of the 4 match series
 

IND v AUS: एडिलेड टेस्ट में जीत के साथ टीम इंडिया ने लगाया जीत का छक्का, बनाया ये खास रिकॉर्ड

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 December 2018, 11:47 IST

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला 31 रनों से अपना नाम कर लिया. इसके साथ ही भारत ने इतिहास रच दिया है. भारत ने 10 साल बाद ऑस्ट्रेलिया को उसकी जमीन पर हराया है. इसके साथ ही भारतीय टीम ने विराट कोहली की कप्तानी में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया में अपनी छठी जीत दर्ज की है. 

कप्तान विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टेस्ट टीम ने ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर वो कर दिखाया जिसकी सब उम्मीद कर रहे थे. इस सिरीज से पहले कई दिग्गजों ने कहा था कि यह भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीत सकती है और शुरुआत कुछ ऐसी ही हुई है. एडिलेड टेस्ट में मेजबान कंगारू टीम को करारी मात देते हुए सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है.

 

इससे पहले साल 2008 में भारतीय टीम ने दुनिया की सबसे तेज पिच में शुमार पर्थ की पिच पर अनिल कुंबले की अुगवाई में यादगार जीत दर्ज की थी. इसके बाद टीम इंडिया को अपनी अगली जीत दर्ज करने के लिए तकरीबन 10 साल का इंतजार करना पड़ा. आपको बताते हैं कि विराट सेना ने कैसे लगाया है जीत का छक्का?

  1. भारत VS ऑस्ट्रेलिया (मेलबर्न, 1977): भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलियाई धरती पर अपने इतिहास की पहली टेस्ट जीत 1977 में मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर दर्ज की थी. तब टीम इंडिया सिरीज के पहले दो टेस्ट गंवा चुकी थी, लेकिन तीसरे टेस्ट में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 222 रनों से विशाल जीत दर्ज करते हुए इतिहास रच दिया था. उस मैच के स्टार सुनील गावस्कर और गेंदबाज बीएस चंद्रशेखर थे.

2. भारत VS ऑस्ट्रेलिया (सिडनी, 1978): टीम इंडिया ने साल 1978 मेें सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में इतिहास दोहराया था. तब भारत ने सिरीज का चौथा मैच जीता था. भारत ने उस मैच को पारी और 2 रन से जीता था. इस बार चंद्रशेखर और बिशन सिंह बेदी की गेंदबाजी जोड़ी ने कंगारुओं पर कहर बरपाया था.

3. भारत VS ऑस्ट्रेलिया (मेलबर्न, 1981): भारतीय टीम जब 1981 में मेलबर्न के मैदान पर तीसरी जीत दर्ज की थी. तब भारतीय गेंदबाजों ने गजब का प्रदर्शन करते हुए और मेजबान टीम को चौथी पारी में कुल 83 रन पर ऑलआउट करते हुए मैच 59 रन से जीता था. चौथी पारी में कपिल देव ने 28 रन देते हुए 5 विकेट लिए थे. 

4. भारत VS ऑस्ट्रेलिया (एडिलेड, 2003): भारत ने साल 2003 में एडिलेड ओवल मैदान पर चौथी जीत दर्ज की थी. सौरव गांगुली की कप्तानी वाली उस टीम ने तब इतिहास रचा था. मैच की पहली पारी में रिकी पोंटिंग के 242 रनों की पारी के दम पर कंगारुओं ने 556 रनों का स्कोर खड़ा किया जिस दौरान कुंबले ने 5 विकेट लिए. इसके जवाब में भारतीय टीम ने पहली पारी में 523 रन बना डाले थे.

राहुल द्रविड़ ने ऐतिहासिक दोहरा शतक जड़ते हुए 233 रनों की पारी खेली थी. इसके अलावा लक्ष्मण ने 148 रनों की पारी खेली थी. तीसरी पारी में अजीत अगरकर (6 विकेट) के कहर के आगे कंगारू टीम 196 रन पर सिमट गई और भारत को 230 रनों का लक्ष्य मिला था और चौथी पारी में टीम इंडिया ने 72.4 ओवर में 6 विकेट खोते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया और एक बार फिर द्रविड़ ने नाबाद 72 रनों की पारी खेलकर टीम को 4 विकेट से मिली यादगार जीत तक पहुंचाया.

5. भारत VS ऑस्ट्रेलिया (पर्थ, 2008): टीम इंडिया ने साल 2008 के अपने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर दुनिया की सबसे तेज पिच वाका पर इतिहास रचा था. उस सिरीज के तीसरे मैच में जीत दर्ज कर भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया में अपनी पांचवी जीत दर्ज की थी. भारत ने राहुल द्रविड़ के 93 रनों की मदद से पहली पारी में 330 रन बनाए थे. जवाब में कंगारुओं ने अपनी पहली पारी में 212 रन ही बनाए थे. दूसरी पारी में लक्ष्मण के 79 रनों व तीसरे नंबर पर अचानक बल्लेबाजी करने उतरे इरफान पठान की 46 रनों की पारी के दम पर भारत ने 294 रन बनाए व ऑस्ट्रेलिया को 413 रनों का लक्ष्य दिया था. चौथी पारी में कंगारू टीम 340 रन पर सिमट गई थी. इसके साथ ही भारत ने ये मैच 72 रनों से जीता था.

6. भारत VS ऑस्ट्रेलिया (एडिलेड, 2018): तकरीबन 10 सालों के लंबे इंतजार के बाद कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टेस्ट टीम ने एडिलेड में कमाल कर दिखाया है और ऑस्ट्रेलिया में भारत की छठी टेस्ट जीत दर्ज हुई है. 

First published: 10 December 2018, 11:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी