Home » क्रिकेट » IND v NZ Pune ODI: Team India will compete in offensive mode against New Zealand to save three ODI series
 

IND v NZ ODI: पुणे में टीम इंडिया के लिए करो या मरो की स्थिति

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 October 2017, 18:37 IST

मुंबई में रविवार को खेले गए पहले वनडे मैच में टीम इंडिया को हराने के बाद पुणे में बुधवार को दूसरा मुकाबला खेला जाएगा. तीन एकदिवसीय मैचों की सिरीज में न्यूजीलैंड 1-0 से बढ़त बना चुकी है. सिरीज जीतने के लिए बुधवार को टीम इंडिया आक्रामक मूड में नजर आएगी.

पहले वनडे मैच में मिली हार के बाद टीम इंडिया पर सिरीज में हार का खतरा मंडरा रहा है. दूसरा मैच बुधवार को महाराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेला जाएगा. अगर कीवी टीम यह मैच जीत लेती है तो तीन वनडे मैचों की सिरीज में 2-0 की अजेय बढ़त ले लेगी और भारत को सालों बाद घर में सिरीज हार का सामना करना पड़ेगा.

लेकिन, गिरकर मजबूत वापसी के लिए मशहूर आक्रामक कप्तान विराट कोहली की भारतीय टीम हर हाल में दूसरा मैच जीतकर सीरीज में रोमांच को जिंदा रखना चाहेगी. भारतीय टीम यह मैच जीत लेती है तो कानपुर में खेला जाने वाले तीसरा मैच निर्णायक हो जाएगा.

टॉम लाथम के शतक और रॉस टेलर के अर्धशतक के अलावा गेंदबाजों के दम पर कीवी टीम ने मेजबानों को वानखेड़े स्टेडियम में छह विकेट से मात दी थी. कीवी टीम एक बार फिर उसी प्रदर्शन को दोहराना चाहेगी. वह जानती है कि उसके पास भारत जैसी मजबूत टीम को उसके घर में मात देने का बेहतरीन मौका है जिसे भुनाकर वह इतिहास रच सकती है.

पहले मैच में कोहली को छोड़कर भारतीय बल्लेबाज कीवी गेंदबाजों के आगे ढह गए थे. कोहली ने अपना 31वां शतक जड़ा था, लेकिन उनके अलावा कोई और बल्लेबाज 50 का आंकड़ा भी पार नहीं कर सका था.

कोहली और टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री चाहेंगे कि टीम के बल्लेबाज वापसी करें. भारत को खासकर सलामी बल्लेबाजी की चिंता होगी. रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी टीम को अच्छी शुरुआत नहीं दिला सकी थी. यहीं से टीम बिखर गई थी और बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पाई.

वहीं, मध्यक्रम में टीम प्रबंधन ने अनुभवी बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को मौका दिया था. कार्तिक अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाए थे. केदार जाधव भी अच्छी लय में आने के बाद एक गलत शॉट खेल कर आउट हो गए थे. कोहली इस मैच में जाधव को बाहर बैठा कर मनीष पांडे को मौका दे सकते हैं.

दूसरी तरफ टीम के लिए जरूरी है कि निचले क्रम में हार्दिक पांड्या और महेंद्र सिंह धोनी का बल्ला चले.

घर में खेलते हुए ऐसे मौके बेहद कम देखने को मिलते हैं जब भारतीय टीम पहला मैच हारकर सिरीज गंवाने की कगार पर हो. कीवी कप्तान केन विलियमसन की टीम के पास भारत को उसके घर उसे मात देने का स्वार्णिम मौका तब मिला है जब मेजबान विश्व क्रिकेट में अपना दबदबा दिखा चुकी है.

टीम के गेंदबाजों ने पिछले मैच में भारत की मजबूत बल्लेबाजी को संभलने नहीं दिया था. बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट टीम के लिए असरदार साबित हुए थे. उन्होंने शुरुआती विकेट लेकर मेजबानों को बैकफुट पर पहुंचा दिया था. बाद में मिशेल सेंटनर ने मध्य में अहम विकेट लेकर भारत को संभलने का मौका नहीं दिया था.

टीम की गेंदबाजी एक बार फिर बोल्ट के इर्द-गिर्द घूमेगी. टिम साउदी के रूप में कीवी टीम के पास एक और अच्छा गेंदबाज है जो भारतीय बल्लेबाजों को परेशान कर सकता है.

बल्लेबाजी की बात की जाए तो मेहमानों के लिए पिछले मैच में सबकुछ अच्छा रहा था और उसी प्रदर्शन से आत्मविश्वास हासिल करते हुए कीवी बल्लेबाज भारत का सामना करने उतरेंगे.

सलामी बल्लेबाज की भूमिका में मुंबई में विकेट पर कदम रखने वाले कोलिन मुनरो और कप्तान विलियमसन को छोड़कर मार्टिन गुप्टिल, टेलर और लाथम ने टीम को संभाला था और जीत दिलाई थी.

कप्तान, लाथम, टेलर और गुप्टिल टीम की बल्लेबाजी की अहम कड़ी हैं. अगर मेहमानों को दूसरा मैच जीतना है तो इन चारों में से किसी एक को बड़ी पारी खेलने की जरूरत होगी.

संभावित टीमें:

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे, मनीष पांडे, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, अक्षर पटेल, कुलदीप यादव, यजुवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और शार्दुल ठाकुर.

न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), ट्रेंट बोल्ट, कॉलिन डी ग्रैंडहोमे, मार्टिन गुप्टिल, मैट हेनरी, टॉम लाथम, हेनरी निकोलस, एडम मिलने, कोलिन मुनरो, ग्लेन फिलिप्स, मिशेल सैंटनर, टिम साउदी, रॉस टेलर, जॉर्ज वर्कर और ईश सोढी.

First published: 24 October 2017, 18:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी